मुख्यपृष्ठनए समाचारसुलतानपुर से भीम या भुआल! सपा की उम्मीदवारी पर दुविधा कायम...पूर्व प्रत्याशी...

सुलतानपुर से भीम या भुआल! सपा की उम्मीदवारी पर दुविधा कायम…पूर्व प्रत्याशी भीम निषाद की अखिलेश से वार्ता के बाद बढ़ा संशय

विक्रम सिंह / सुलतानपुर

समाजवादी पार्टी सुलतानपुर में पार्टी की उम्मीदवारी को लेकर गुटबाज़ी में फंस गई है।हाईकमान भी दुविधाग्रस्त है। पूर्व घोषित प्रत्याशी भीम निषाद और उन्हें बदलकर लाए गए मौजूदा घोषित प्रत्याशी राम भुआल निषाद दोनों ही मैदान में प्रचार वाहनों के साथ डंटे हुए हैं। वहीं सोमवार को एक नए घटनाक्रम में पूर्व घोषित प्रत्याशी भीम निषाद स्थानीय सपा विधायक ताहिर खान के साथ पार्टी मुखिया अखिलेश यादव के पास जा पहुंचे। उन्होंने उम्मीदवारी को लेकर स्पष्ट निर्णय लेने के बजाय भीम को मिठाई खिलवाई, जिससे स्थिति संशयपूर्ण बनी हुई है।
बता दें कि गत माह यानी सोलह मार्च को सपा हाईकमान ने पड़ोसी आंबेडकरनगर जिले के पार्टी नेता भीम निषाद को सुलतानपुर लोस क्षेत्र से मैदान में उतारा था। उन्हें माह भर प्रचार करते हुए हुआ ही था कि सपा हाईकमान ने उनकी जगह गोरखपुर निवासी पूर्व मंत्री रामभुआल निषाद को टिकट दे दिया। जिस पर पार्टी खेमे में बंट गई। पूर्व घोषित भीम निषाद पार्टी के फैसले को इनकार करते हुए मैदान में डंटे रहे। उनके साथ जिले के इकलौते सपा विधायक इसौली ताहिर खान भी आ गए, जबकि जिलाध्यक्ष समेत कई पूर्व विधायक रामभुआल निषाद के समर्थन में उतर आए। इस दौरान भीम निषाद ने सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल व पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव के समक्ष पेश होकर अपनी दावेदारी बरकरार रखते हुए टिकट बदले जाने के फैसले पर एतराज जताया। जिस पर अखिलेश यादव ने भी उन्हें मिठाई खिला दी और संकेतों में कहा कि अभी तीन बाकी है, जिससे चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। साथ ही राजनीतिक हलके में उनके कहे गए शब्दों के अर्थ तलाशे जा रहे हैं। विदित हो कि सुलतानपुर सीट से बीजेपी ने मेनका गांधी को दूसरी बार मैदान में उतारा है। यहां पर एक लाख बीस हजार निषाद वोटर निर्णायक भूमिका में हैं।

अन्य समाचार