मुख्यपृष्ठनए समाचारभिवंडी मनपा का पूर्व कचरा ठेकेदार को अल्टीमेटम...सभी वाहन तत्काल जमा नहीं...

भिवंडी मनपा का पूर्व कचरा ठेकेदार को अल्टीमेटम…सभी वाहन तत्काल जमा नहीं किए तो दर्ज होगी एफआईआर

सामना संवाददाता / भिवंडी

भिवंडी मनपा अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों में कचरा ढुलाई करने वाले पूर्व ठेकेदार आर एंड बी कंपनी के प्रकल्प व्यवस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी को नोटिस जारी कर चेतावनी दी है। मनपा ने निर्देश दिया है कि २४ घंटे में मनपा स्वामित्व वाली ५ करोड़ की गाड़ियों को स्वास्थ्य विभाग को हस्तांतरित करें, अन्यथा संस्था के खिलाफ फौजदारी के तहत केस दर्ज किया जाएगा।
भिवंडी मनपा प्रशासन ने मई २०२२ में मुंबई के बोरीवली की कंपनी आर एंड बी इंप्रâा को शहर में प्रतिदिन निकलने वाले ५५० टन कचरे को उठाकर डंपिंग ग्राउंड तक पहुंचाने हेतु १,२२९ रुपए प्रति टन की दर से ठेका दिया था। साथ ही मनपा ने स्वयं ५ करोड़ रुपए खर्च कर खरीदी गईं ५० घंटा गाड़ियां और २३ कंप्रेसर कचरा संग्रहण हेतु ठेकेदार को मात्र एक रुपए की मामूली दर पर दिया था। इतना ही नहीं मनपा प्रशासन कचरा उठाने के लिए प्रतिमाह करीब पौने दो करोड़ रुपए का भुगतान भी ठेकेदार को कर रही थी। इसके बावजूद शहरभर में कचरे का अंबार लगा रहता था। ठेकेदार की कार्यप्रणाली में कोई सुधार न होता देख मनपा आयुक्त अजय वैध ने ठेकेदार कंपनी को नोटिस भेजकर १५ मार्च २०२४ को ठेका रद्द कर मनपा के सभी वाहनों को मनपा स्वास्थ्य विभाग में जमा करने का आदेश दिया था।
आर एंड बी इंफ्रॉ प्रोजेक्ट प्रा. लि. कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी व प्रकल्प अधिकारी को मनपा के सभी वाहनों को हस्तांतरित करने के लिए २४ घंटे का नोटिस जारी किया है। नोटिस के बावजूद यदि ठेकेदार ने वाहन नहीं लौटाए तो उस पर एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।
– अजय वैध, भिवंडी शहर मनपा के प्रशासक व आयुक्त

अन्य समाचार