मुख्यपृष्ठनए समाचारभिवंडी मनपा स्वास्थ्य विभाग ने की झोलाछाप महिला डॉक्टर पर कार्रवाई,...

भिवंडी मनपा स्वास्थ्य विभाग ने की झोलाछाप महिला डॉक्टर पर कार्रवाई, बोगस डॉक्टरों में मचा हड़कंप

सामना संवाददाता /भिवंडी

भिवंडी के विट्ठल नगर इलाके में मनपा स्वास्थ्य विभाग ने छापामार कर एक महिला बोगस डॉक्टर को गिरफ्तार किया है, जिसके पास से मरीजों के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री जप्त करते हुए नारपोली पुलिस स्टेशन में केस दर्ज कराया है।जो बिना किसी जरूरी दस्तावेज के दूसरे के नाम पर दवाखाना चला रही थी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई कार्रवाई से झोलाछाप डॉक्टरों में न सिर्फ हड़कंप मच गया है, बल्कि वे कार्रवाई के डर से भूमिगत होने लगे हैं।
मालूम हो कि पिछले दिनों टेमघर में गर्भवती महिला की गलत इलाज के कारण हुई मौत के बाद मनपा स्वास्थ्य विभाग एक्शन में आ गया और छोलाछाप डॉक्टरों की धरपकड़ मुहिम शुरू की है। इसके लिए मनपा स्वास्थ्य विभाग ने मनपा चिकित्सा अधिकारी डॉ. जयवंत धुले की नेतृत्व में एक टीम का गठन किया है, जो लगातार बोगस डॉक्टरों पर नकेल कसने में जुटी है। स्थानीय विट्ठल नगर इलाके में बोगस डॉक्टर के सक्रिय होने की सूचना मनपा स्वास्थ्य विभाग को मिली थी, जिसके बाद डॉ. धुले के नेतृत्व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 24 अगस्त को दोपहर में 12.30 बजे विट्ठल नगर में स्थित गैसिया क्लीनिक पर छापामार कर मेहमूदा असलम अंसारी (40) नामक झोलाछाप महिला डॉक्टर को पकड़कर उसके खिलाफ नारपोली पुलिस स्टेशन में विभिन्न धाराओं के तहत शिकायत दर्ज करवाई है, जो बिना किसी वैद्यकीय डिग्री के दूसरे के नाम का बोर्ड लगाकर क्लीनिक खोलकर मरीजों के जान के साथ खिलवाड़ कर रही थी, जबकि इस प्रकार शहर के हर हिस्से में झोलाछाप डॉक्टर सक्रिय हैं।
शहर में झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार, अब तक छह दर्जन नपे
मजदूर बाहुल्य भिवंडी शहर में झोलाछाप डाॅक्टरों की भरमार है, जो बिना किसी मेडिकल दस्तावेज के अथवा दूसरों के नाम का बोर्ड व शार्टिफिकेट लगाकर स्लम व मजदूर बस्तियों में अपनी क्लीनिक खोलकर मरीजों को अनाप-सनाप दवाइयां देकर इलाज के नाम पर मरीजों के जीवन से खिलवाड़ करते हैं, बल्कि मरीजों से मोटी रकम ऐंठ कर मालामाल हो रहे हैं। इन डॉक्टरों के कारण अब तक कई मरीजों की मौत होने की घटनाएं शहर में घटित हो चुकी हैं। मनपा के चिकित्सा अधिकारी डॉ. जयवंत धुले ने बताया कि फरवरी से अब तक 70 से 80 बोगस डॉक्टरों को पकड़कर उन पर केस दर्ज कराया गया है, जबकि शहर में फर्जी डॉक्टरों के खिलाफ इसी तरह की कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी। जिसको लेकर फर्जी डॉक्टरों में हड़कंप मचा हुआ है।

अन्य समाचार