मुख्यपृष्ठटॉप समाचारचुनाव आयोग का पक्षपात : शिवसेना समर्थक क्षेत्रों में जानबूझकर कराया गया...

चुनाव आयोग का पक्षपात : शिवसेना समर्थक क्षेत्रों में जानबूझकर कराया गया धीमा मतदान!  …उद्धव ठाकरे का आरोप

‘चुनाव आयोग के कर्मचारियों को कोर्ट में खींचेंगे’

सामना संवाददाता / मुंबई
लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में नागरिकों में मतदान को लेकर उत्साह दिखा, लेकिन जिन क्षेत्रों में शिवसेना को अधिक वोट मिलते हैं, वहां मतदान प्रक्रिया में जानबूझकर देरी की गई, ऐसा आरोप शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल लगाया। हार के डर से नरेंद्र मोदी सरकार ने चुनाव आयोग के माध्यम से यह घिनौना, गंदा खेल खेला है और इसमें शामिल चुनाव कर्मचारियों को अदालत में घसीटेंगे, ऐसी चेतावनी भी उद्धव ठाकरे ने दी। इसी के साथ ‘अपने मताधिकार का प्रयोग किए बिना मतदान केंद्र न छोड़ें, भले ही सुबह हो जाए’ ऐसी अपील भी उन्होंने नागरिकों से की।
पत्रकार परिषद में उद्धव ठाकरे ने मीडिया को यह जानकारी देते हुए कहा कि मुंबई और कल्याण के निर्वाचन क्षेत्रों में इस तरह की देरी की शिकायतें आई हैं। मतदान केंद्रों पर चुनाव आयोग के प्रतिनिधियों ने समय बर्बाद करने के लिए जानबूझकर मतदाताओं के नाम की दो से तीन बार जांच की।

उद्धव ठाकरे की अपील के बाद, फिर से पोलिंग बूथों की ओर दौड़े वोटर
शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की अपील के बाद कल वोटर फिर से पोलिंग बूथ की ओर दौड़ पड़े। शिवसेनाप्रक्षप्रमुख ने कहा कि जिन मतदान केंद्रों पर देरी हो रही है, उनके नाम और चुनाव प्रतिनिधियों के नाम तुरंत बताएं, ताकि नजदीकी शिवसेना शाखा में इसकी जानकारी दी जा सके और उनके खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया जा सके। उद्धव ठाकरे की अपील के बाद वोटर फिर से ऐसे मतदान केंद्रों पर पहुंचे और वहां के चुनाव प्रतिनिधियों के बारे में पूछताछ की। इस पत्रकार परिषद में शिवसेना नेता व सांसद संजय राऊत और विधायक आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे।
कल चुनाव आयोग ने जानबूझकर शिवसेना समर्थक वोटरों को परेशान किया। आयोग ने मतदाताओं के नाम की दो से तीन बार जांच की। ऐसे में मतदाताओं को समय पर मतदान केंद्र पर पहुंचने के बाद भी कतार में इंतजार करना पड़ा। मतदान केंद्रों पर न तो पीने का पानी था और न ही मतदाताओं के बैठने के लिए कोई व्यवस्था। वरिष्ठ नागरिक व महिला मतदाता काफी परेशान दिखे। ऐसी शिकायतें शिवसेना के प्रभुत्व वाले इलाकों से आई हैं, ऐसी जानकारी भी उद्धव ठाकरे ने दी। मलबार हिल में मतदान सुचारु रूप से चल रहा है लेकिन जहां शिवसेना मजबूत है, वहां देरी हो रही है, ऐसे में उद्धव ठाकरे ने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या चुनाव आयोग मोदी सरकार के लिए काम कर रहा है?
मोदी सरकार आयोग को अपने मोहरे की तरह इस्तेमाल कर रही है। आयोग जानबूझकर मतदान प्रक्रिया में देरी कर रहा है। यह किसी को भी वोट देने से रोकने की मोदी सरकार की चाल है’ मतदान पूरा होने तक केंद्र को बंद नहीं किया जा सकता इसलिए सुबह हो जाए तो भी चलेगा, लेकिन मतदान किए बिना केंद्र से बाहर न आएं, ऐसी अपील भी उद्धव ठाकरे ने जनता से की।

जनता जुमलेबाजी से परेशान है
अपने मतदान के अधिकार का इस्तेमाल कर बाहर आने के बाद उद्धव ठाकरे ने पत्रकारों से संवाद साधते हुए कहा कि देश की जनता जुमलेबाजी से परेशान है। जुमलेबाजों ने ढेर सारा पैसा बहाया है, लेकिन मतदाता पैसों की बरसात को स्वीकार नहीं करेंगे। पैसे लेकर कोई अपना भविष्य बेचने को तैयार नहीं, ऐसा भी उद्धव ठाकरे ने कहा।

अन्य समाचार