मुख्यपृष्ठनए समाचारपोर्शे कार एक्सीडेंट केस में बड़ा खुलासा : ससून के डॉक्टरों की...

पोर्शे कार एक्सीडेंट केस में बड़ा खुलासा : ससून के डॉक्टरों की काली करतूत! …बदल दिए आरोपी के ब्लड सैंपल  

 दो डॉक्टर किए गए गिरफ्तार 
सामना संवाददाता / पुणे 
पुणे के बहुचर्चित पोर्शे कार हिट एंड रन केस में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस की मानें तो दो लोगों की जान लेने वाले आरोपी को बचाने के लिए उसकी फेमिली ने कई चालें चलीं। फेमिली की तरफ से पहले ड्राइवर को बलि का बकरा बनाने की कोशिश की गई उसके बाद आरोपी के ओरिजनल ब्लड सैंपल को दूसरे शख्स के सैंपल से रिप्लेस कर दिया गया। सैंपल से छेड़छाड़ करने के लिए डॉक्टरों को पैसे भी दिए गए थे।
आरोपी के ब्लड में शराब का जिक्र नहीं
ससून अस्पताल की जांच रिपोर्ट में आरोपी के ब्लड में शराब का कोई जिक्र नहीं मिला क्योंकि उसके के रक्त के नमूने बदले दिए गए थे। पुलिस ने दावा किया कि ससून अस्पताल के डॉ. तावरे और डॉ. हालनोर के निर्देश पर किशोर के रक्त के नमूने बदले गए थे, जिसके बाद पुलिस ने अब दोनों डॉक्टरों को गिरफ्तार किया है।
ड्राइवर को फंसाने की चली चाल 
बता दें कि इसके पहले आरोपी के फेमिली की तरफ से यह दावा किया गया था कि घटना वाले दिन कार आरोपी नहीं बल्कि फेमिली ड्राइवर चला रहा था, इस बात को ड्राइवर ने भी कबूल कर लिया था, लेकिन पुलिस की जांच में यह बात झूठ निकली। इस एक्सीडेंट को अपने ऊपर लेने के लिए आरोपी के फेमिली ने ड्राइवर को धमकाया था और उसे पैसों का लालच दिया था।
क्या था मामला
बता दें कि पुणे के कल्याणी नगर में पिछले रविवार तड़के पोर्शे कार चला रहे नाबालिग आरोपी ने मोटरसाइकिल से जा रहे दो सॉफ्टवेयर इंजीनियरों को कुचल दिया था, जिससे दोनों की मौत हो गई थी। पुलिस ने दावा किया कि किशोर नशे की हालत में कार चला रहा था। मरने वालों में एक युवक और एक युवती थी। इस मामले में आरोपी किशोर को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने सुधारगृह भेज दिया।

अन्य समाचार