मुख्यपृष्ठनए समाचार‘अग्निपथ' पर जलीं ५ ट्रेनें, झुलसा बिहार!

‘अग्निपथ’ पर जलीं ५ ट्रेनें, झुलसा बिहार!

सामना संवाददाता / पटना
केंद्र सरकार की ‘अग्निपथ’ योजना के विरोध में बिहार में दूसरे दिन उग्र प्रदर्शन हुआ। १७ जिलों में युवा सड़क और ट्रैक पर उतर गए। प्रदर्शनकारियों ने छपरा, कैमूर  और गोपालगंज में ५ ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया। १२ ट्रेनों में तोड़फोड़ की गई है। अकेले छपरा में ही ३ ट्रेनों में आग लगा दी। यात्रियों ने भागकर अपनी जान बचाई। छपरा में सबसे ज्यादा प्रदर्शन का असर रहा। आरा में पुलिस को उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले दागने पड़े। मोतिहारी में भी ट्रेन पर पथराव किया गया है। प्रदर्शन के कारण रेल सेवा सुबह ६.२५ के बाद ठप हो गई। करीब ९ घंटे तक ट्रेनें ठप रहीं। प्रदर्शन के दौरान भाजपा के २ विधायकों पर हमले भी किए गए हैं। छपरा सदर के भाजपा विधायक डॉ. सीएन गुप्ता के घर पर प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ की है। वहीं वारिसलीगंज की विधायक अरुणा देवी पर भी हमला हुआ। नवादा में प्रदर्शनकारियों ने भाजपा ऑफिस में आग लगा दी। हाजीपुर में पुलिस पर पथराव किया गया। पुलिस जवानों ने भाग कर जान बचाई। वारिसलीगंज की भाजपा विधायक अरुणा देवी पर नवादा में प्रदर्शनकारियों ने हमला कर दिया।
गोपालगंज में ट्रेन को किया आग के हवाले
गोपालगंज में ‘अग्निपथ’ के आंदोलनकारियों ने सिधवलिया रेलवे स्टेशन पर पैसेंजर ट्रेन को आग के हवाले कर दिया है। यहां ट्रेन की कई बोगियों में आग लगा दी गई। रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में सवार यात्रियों ने भागकर किसी तरह से अपनी जान बचाई है। जहानाबाद में छात्रों ने पटना-गया रेल लाइन को निशाना बनाते हुए पटना-गया मेमू पैसेंजर ट्रेन को जहानाबाद स्टेशन के पास रोक दिया। छात्रों ने शहर के स्टेशन इलाके के काको मोड़ के पास सड़क पर आगजनी कर जाम लगा दिया। बेगूसराय में उग्र अभ्यर्थियों ने बस में तोड़फोड़ शुरू कर दी। एक यात्री गंभीर रूप से घायल हो गया। तेघड़ा डीएसपी ओमप्रकाश छात्रों को समझाने में लगे रहे लेकिन छात्र मानने को तैयार नहीं थे।
बक्सर में भी मचा बवाल
बक्सर में भारी संख्या में प्रदर्शनकारी किला मैदान की सड़कों पर निकले पड़े। बक्सर स्टेशन के अलावा चौसा, डुमरांव, रघुनाथपुर स्टेशनों के पास भी रेलवे ट्रैक जाम कर दिया गया। ट्रैक से लोगों को हटाने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया। जवाब में छात्रों ने पत्थरबाजी की। पुलिस ने स्टेशन से कई छात्रों को गिरफ्तार भी किया है।
आरा स्टेशन पर छात्रों ने मचाया उत्पात
आरा स्टेशन पर भी छात्रों ने जमकर उत्पात मचाया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कई दुकानों में तोड़फोड़ की। इतना ही नहीं उपद्रवियों ने कई दुकानों को लूट भी लिया। नवादा में रेलवे ट्रैक से छेड़छाड़ हुई है। प्रदर्शनकारियों ने ट्रैक पर लगे नट बोल्ट को भी खोल दिए। जिसके कारण हावड़ा-गया एक्सप्रेस खबर लिखे जान तक ६ घंटे से खड़ी रही।
खगड़िया में जाम कर दिया रेल चक्का
खगड़िया रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर टाटा लिंक को बाधित कर उपद्रवियों ने रेल चक्का जाम कर दिया। मानसी थाना क्षेत्र के एनएच ३१ पर छात्र संगठन ने सड़क जाम कर प्रदर्शन किया । रोहतास के बिक्रमगंज में भी प्रदर्शनकारियों ने अग्निपथ योजना के खिलाफ तेंदुनी चौक को जाम किया।
चार साल की नौकरी का विरोध
एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि सेना में नियुक्ति के लिए आवेदन मांगे गए थे। हजारों अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। उनमें से जिन्होंने फिजिकल टेस्ट पास किए उनका मेडिकल हुआ था। मेडिकल होने के बाद अब एक साल से लिखित परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं। अब तक परीक्षा नहीं ली गई। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एलान किया था कि अग्निपथ स्कीम के तहत अग्निवीरों की नियुक्ति होगी, जिन्हें ४ साल के लिए सेना में नौकरी दी जाएगी।

अन्य समाचार