" /> बिल का बम! खुला पति के पाप का राज

बिल का बम! खुला पति के पाप का राज

साली की बेटी से किया था बलात्कार
पुलिस ने किया हैदराबाद से गिरफ्तार
पति एवं बच्चों के कपड़े धोना हिंदुस्थानी परिवारों में आम होता है। प्राय: ऐसे कार्य करने के दौरान पत्नी के हाथ कुछ पैसे भी लग जाते हैं, जो गलती पति के कपड़ों की जेब में छूट जाते हैं। लेकिन पुणे के एक शख्स ने अपनी जेब में एक ऐसा राज छोड़ दिया था, जो उसके लिए मुसीबत का सबक बन गया। असल में उक्त शख्स की जेब में उसकी पत्नी को एक बिल मिला था, जो कि एक बम साबित हुआ। उसके धमाके से उनके गृहस्थ जीवन में भूचाल आ गया।
जिस तरह बहन के बच्चों के लिए मौसी का रिश्ता मां की तरह ही अजीज होता है। उसी तरह मौसी का पति भी पिता समान ही होता है, लेकिन एक कुकर्मी ने अपनी साली की नाबालिग बेटी (भांजी) को प्रेम जाल में पंâसा लिया। वह उसे बरगलाकर अपने साथ भगा ले गया। उसने बेटी समान भांजी को हवस का शिकार बनाया, बाद में उसे उसके घर छोड़ गया। उसे लगा कि उसके पाप का राज कभी खुल नहीं सकता लेकिन उसकी जेब में मिले होटल के बिल से उसका राजफाश हो गया। हुआ ऐसा कि ठाणे जिले के मुंब्रा इलाके में रहनेवाली रुखसाना (काल्पनिक नाम) की १७ वर्षीय बेटी शबाना (काल्पनिक नाम) १८ जून को अचानक घर से लापता हो गई थी। रुखसाना और उनका परिवार शबाना को ढूंढ़ने में परेशान था। उसी सिलसिले में रुखसाना ने हैदराबाद में रहनेवाली अपनी बहन नफीसा (काल्पनिक नाम) को भी फोन किया था। नफीसा के पति शहबाज (काल्पनिक नाम) ने फोन पर रुखसाना से कहा कि शबाना ने उसे फोन किया था और कहा कि था कि वह घर छोड़कर जा रही है और खुदकुशी करनेवाली है। इस पर रुखसाना ने शहबाज से पूछा कि शबाना के पास फोन ही नहीं है तो उसने तुम्हें फोन वैâसे किया था? इस पर शहबाज हड़बड़ा गया और उसने कहा कि मैं शबाना को समझाकर घर लेकर आता हूं और अगले दिन वह शबाना के साथ मुंब्रा पहुंच गया और उसने शबाना को उसकी मां रुखसाना को सौंप दिया और वापस हैदराबाद के लिए निकल गया। अचानक घटित हुए इस पूरे घटनाक्रम की गुत्थी में रुखसाना बुरी तरह उलझी हुई थी। शबाना का अचानक गायब होना, उसका शहबाज को फोन करना और फिर हैदराबाद में रहनेवाले शहबाज का अचानक उसके (शबाना) साथ मुंब्रा पहुंचना ये कहानी वह समझ नहीं पा रही थी। फिर भी शबाना के लौट आने से वह संतुष्ट थी।
शहबाज को भारी पड़ी एक गलती
हैदराबाद लौटने पर शहबाज द्वारा बदले गए कपड़े नफीसा धो रही थी। उसी दौरान शहबाज की जेब में उसे एक बिल मिला। वह पुणे के किसी होटल का बिल था। बिल के मुताबिक शहबाज १८ जून से २१ जून तक पुणे के उस होटल में ठहरा था। इस जानकारी के बाद नफीसा के कान खड़े हो गए क्योंकि उसी दौरान शबाना मुंब्रा से गायब हुई थी। नफीसा ने पति (शहबाज) की जेब में मिले बिल की अपने भाई से गुप्त ढंग से जांच करवाई तो शहबाज का बड़ा राज खुल गया। असल में १८ जून को लापता होने के बाद शबाना शहबाज के साथ पुणे के उसी होटल में ठहरी थी, जिसका बिल नफीसा को मिला था। नफीसा के भाई ने जब होटल के नंबर पर संपर्वâ किया तो होटल के मैनेजर ने बताया कि उस दौरान शहबाज होटल में अपनी पत्नी के साथ ठहरा था। इस जानकारी के बाद नफीसा का भाई खुद उस होटल में गया और वहां के सीसीटीवी पुâटेज देखा। पुâटेज में शहबाज के साथ शबाना नजर आई।
पुलिस ने किया गिरफ्तार
शहबाज और शबाना के प्यार का राज जब रुखसाना को पता चला तो उसने इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज करा दी। शबाना ने पुलिस को बताया कि शहबाज ने उसे प्रेम जाल में फांसा था और शादी करने का झांसा दिया था लेकिन होटल में ४ दिन उसे हवस का शिकार बनाने के बाद शहबाज उसे वापस उसके घर छोड़ गया। शबाना से मिली जानकारी के आधार पर डीसीपी सागर पाटील, एसीपी सतीश गोवेकर, तथा वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विष्णु ताम्हाणे के मार्गदर्शन व पीआई उल्हास कदम के नेतृत्व में पीएसआई ज्योति कुटे व उनके सहयोगी शहबाज को गिरफ्तार करने हैदराबाद पहुंच गए। लेकिन पुलिस को शहबाज घर में नहीं मिला। पुलिस ने तस्वीर के सहारे उसे आस-पास के परिसर में ढूंढ़ना शुरू किया। इस दौरान शहबाज उन्हें चंद्रयानगुट्टा इलाके में दिख गया। पुलिस को देखकर वह भागने लगा। लेकिन पुलिसकर्मियों ने उसे दौड़कर पकड़ लिया। अदालत ने उसे २८ जून तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है।