मुख्यपृष्ठनए समाचारशिंदे गुट के मंत्री के फैसले पर भाजपा आक्रामक! ...स्कूल में अंडा...

शिंदे गुट के मंत्री के फैसले पर भाजपा आक्रामक! …स्कूल में अंडा वितरित करने का विरोध

सामना संवाददाता / मुंबई
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे गुट के शिक्षा मंत्री दीपक केसरकर ने स्कूलों में विद्यार्थियों को मध्याह्न भोजन में अंडा वितरित करने का निर्णय लिया है। केसरकर के इस निर्णय के खिलाफ भाजपा आक्रामक हो गई है। भाजपा जैन प्रकोष्ठ ने स्कूलों में अंडा देने के पैâसले का कड़ा विरोध किया है। भाजपा के जैन प्रकोष्ठ ने दीपक केसरकर को दलहन का पैकेट भेजा है। कोल्हापुर के डाकघर से मंत्री केसरकर को दलहन का एक पैकेट भेजा गया है। जैन प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष संदीप भंडारी ने मध्याह्न भोजन के दौरान छात्रों को अंडे बांटने के पैâसले को तत्काल रद्द करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि अगर यह पैâसला वापस नहीं लिया गया, तो वह राज्य भर से बड़ी संख्या में दलहन के पैकेट दीपक केसरकर के लिए भेजे जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोटे अनाज पर विशेष जोर दिया है। शिंदे गुट के मंत्री दीपक केसरकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस पैâसले का विरोध करते हुए उक्त निर्णय लिया है।
भाजपा आध्यात्मिक गठबंधन के प्रमुख आचार्य तुषार भोसले ने स्कूलों में अंडे देने के पैâसले पर विरोध जताया है। उन्होंने इस संदर्भ में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को पत्र लिखा है। पत्र में छात्रों को अंडे देने के पैâसले पर नाराजगी जताई गई है। सरकार के इस पैâसले से महाराष्ट्र के आध्यात्मिक क्षेत्र के कई लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। इसलिए इस पैâसले को तुरंत रद्द किए जाने की मांग भाजपा ने की हैं। बता दें कि जिला परिषद स्कूलों में कक्षा १ से ८वीं तक के स्कूलों में स्कूली पोषण आहार उपलब्ध कराया जाता है। इसके लिए संबंधित स्कूल के प्रधानाध्यापक स्थानीय बाजार से अंडे और फल खरीद सकेंगे। पहले छह सप्ताह तक प्रत्येक छात्र को ३० रुपए दिए जाएंगे। भाजपा की मांग है कि स्कूली पोषाहार में अंडा नहीं दिया जाना चाहिए, जिसके कारण स्कूलों में अंडे वितरित होने का मामला खटाई में पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है।

अन्य समाचार