मुख्यपृष्ठनए समाचारदेश की सबसे अनैतिक पार्टी है भाजपा -कांग्रेस

देश की सबसे अनैतिक पार्टी है भाजपा -कांग्रेस

सामना संवाददाता / मुंबई
भाजपा सत्ता के लिए साम, दाम, दंड, भेद ऐसी सभी कुटिल नीति का उपयोग करनेवाली देश की सबसे अनैतिक पार्टी है। विरोधियों की आवाज दबाने के लिए अनैतिक कानून बनाए जाते हैं, विरोधियों के पीछे जांच एजेंसियां लगा दी जाती हैं। विरोधियों को बदनाम करने का हर तरह का षड्यंत्र रचा जाता है, लेकिन वही भ्रष्टाचारी भाजपा में चले जाते हैं तो भाजपा उन्हें निरमा से धोकर साफ कर देती है, ऐसा आरोप कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने लगाया है। उन्होंने आगे कहा कि सहकारिता अध्यादेश राकांपा पर दबाव बनाने के लिए लाया गया था। अजीतदादा के सत्ता में आने के बाद अध्यादेश वापस ले लिया गया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में मौजूदा सरकार को महायुति सरकार कहा जाता है, क्योंकि अजीत पवार ने एनसीपी विधायकों के साथ सत्ता में भागीदारी की है।
अजीत पवार राज्य के उपमुख्यमंत्री हैं। उन्हें वित्त विभाग की भी जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले एकनाथ शिंदे सहित ४० शिवसेना विधायकों ने बगावत कर पार्टी छोड़ दी थी। वर्तमान में भाजपा, शिंदे गुट और अजीत पवार गुट सत्ता में है। इस महायुति सरकार की सावंत ने जमकर खिल्ली उड़ाई है। सावंत ने फिल्म ‘अंदाज अपना-अपना’ का एक किस्सा ट्वीट किया है। इसमें आमिर खान, सलमान खान और परेश रावल एक ही लूना पर जाने की कोशिश कर रहे हैं। आमिर खान और सलमान खान को शिंदे गुट और अजीत पवार गुट के तौर पर दिखाया गया है। इसमें दिखाया गया है कि परेश रावल का मतलब भाजपा है। आमिर खान और सलमान खान लूना पर बैठे हैं, लेकिन परेश रावल के पास कोई सीट नहीं है। दोनों कहते हैं कि पीछे बैठो, आगे बैठो। आखिरकार परेश रावल को गुस्सा आ जाता है और वह दोनों को नीचे उतार देता है। फिर वह खुद लूना पर बैठ जाता है और लूना स्टार्ट कर देता है। उस वक्त सलमान और आमिर किसी तरह पीछे की सीट पर बैठने की कोशिश करते हैं, लेकिन परेश रावल लूना को लेकर चले जाते हैं और ये दोनों पीछे रह जाते हैं। सचिन सावंत ने कहा है कि भाजपा-शिंदे गुट और अजीत पवार गुट की मौजूदा स्थिति ऐसी है। शिंदे-फडणवीस सरकार पिछले साल ३० जून, २०२२ को सत्ता में आई थी। इस सरकार के साल खत्म होने के ठीक दो दिन बाद २ जुलाई २०२३ को अजीत पवार सत्ता में आए। लेकिन तब से इस सरकार का लगातार मजाक उड़ाया जा रहा है या आलोचना की जा रही है। कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत द्वारा किया गया यह ट्वीट अब चर्चा का विषय बना हुआ है।

अन्य समाचार