मुख्यपृष्ठनए समाचारभाजपा सांसद रामशंकर कठेरिया को दो वर्ष की सजा व ५० हजार...

भाजपा सांसद रामशंकर कठेरिया को दो वर्ष की सजा व ५० हजार का जुर्माना!

मानसून सत्र के दौरान समाप्त हुई सदस्यता!
मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ
आगरा में एमपी-एमएलए कोर्ट ने आगरा में टोरेंट अधिकारी से मारपीट एवं बलवा करने के मामले में दोषी पाए गए इटावा से सांसद रामशंकर कठेरिया को दो साल की सजा के साथ पचास हजार जुर्माना लगाया है। सुनवाई के दौरान पुलिस के आरोप पत्र, अधिवक्ता द्वारा पेश किए साक्ष्यों के आधार पर कोर्ट ने कठेरिया को धारा १४७, ३२३ के तहत दोषी पाया है। घटना वर्ष २०११ की है। मामले में टोरेंट अधिकारी की तरफ से मुकदमा दर्ज कराया गया था। मामला हरीपर्वत थाना क्षेत्र के साकेत माल का है। यहां स्थित टोरेंट के सतर्कता कार्यालय (विद्युत चोरी निवारण कार्यालय) पर १६ नवंबर, २०११ को पूर्व एससी-एसटी आयोग के अध्यक्ष एवं वर्तमान में इटावा से भाजपा सांसद राम शंकर कठेरिया पहुंचे। उनके साथ करीब १०-१५ समर्थक थे। यहां पर मैनेजर भावेश रसिकलाल शाह बिजली चोरी से संबंधित मामलों की सुनवाई एवं निस्तारण कर रहे थे। इसी दौरान सांसद रामशंकर कठेरिया के साथ आए समर्थकों ने भावेश रसिकलाल शाह के कार्यालय में घुसकर उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। इससे उन्हें काफी चोटें आर्इं। भावेश की तहरीर पर सांसद एवं उनके अज्ञात समर्थकों के विरुद्ध धारा १४७ एवं ३२३ के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। मामले में हरीपर्वत थाना पुलिस ने सांसद के विरुद्ध आरोप पत्र अदालत में प्रेषित किया। मामले में गवाही एवं बहस के बाद शनिवार को फैसला सुनाया गया।
उच्य न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता के अनुसार, दो वर्ष या उससे अधिक की सजा होने पर जनप्रतिनिधियों की सदस्यता स्वत: समाप्त मानी जाएगी, जिसकी सदस्यता चली जाती है। जब तक उसे दंड सुनाने वाले न्यायालय से बड़ा न्यायालय राहत नहीं देगा, तब तक वह संसद के सदस्य नहीं रहेंगे। अब संसद के मानसून सत्र में रामशंकर कठेरिया सांसद नहीं रह जाने के कारण सदन की कार्यवाही में भाग न ले पाएंगे और न ही सदन में प्रवेश कर सकेंगे।

अन्य समाचार