मुख्यपृष्ठसमाचारभाजपा अध्यक्ष के बेटे का घोटाला आया सामने 

भाजपा अध्यक्ष के बेटे का घोटाला आया सामने 

सामना संवाददाता / उल्हासनगर

‘बाप नंबरी तो बेटा दस नंबरी’ यह कहावत उल्हासनगर के भाजपा अध्यक्ष प्रदीप रामचंदानी के बेटे पर एकदम फिट बैठती है। उल्हासनगर कैंप नंबर चार में पानी आपूर्ति व व्यवस्थापन सुधार के अंतर्गत अच्छी गुणवत्ता की पाइपलाइन लगाने का टेंडर मे. ए.एम.रामचंदानी की कंपनी को दिया गया था। लेकिन ठेकेदार रोहित प्रदीप रामचंदानी ने निम्न गुणवत्ता का पाइप लगा दिया। लोगों की शिकायत पर जब विभाग ने जांच की तो उन्हें दोषी पाया गया, जिसके बाद प्रशासक अजीज शेख ने कंपनी को ब्लैक लिस्ट करने की बजाय रोहित प्रदीप रामचंदानी को केवल काम में सुधार करने की नोटिस दी। इसे लेकर अब सवाल उठ रहे हैं।
जलापूर्ति विभाग के कार्यकारी अभियंता परमेश्वर बुडगे ने बताया कि चार इंच व्यास का ठेकेदार ने जो पाइप लगाया है वह अच्छी क्वालिटी का नहीं था। जब इसका जवाब मांगा गया तो ठेकेदार ने असंतोषजनक जवाब दिया। गौरतलब है कि प्रदीप रामचंदानी के ऊपर कई बार ठेके को मारपीट से हासिल करने सहित फाइल चोरी का भी आरोप लग चुका है। प्रदीप रामचंदानी को कई दिनों तक जेल में भी रहना पड़ा था। उल्हासनगर-चार में सड़क के निर्माण में घटिया काम करने के आरोप में भी उन पर प्रशासकीय कार्रवाई की जा चुकी है। रामचंदानी को एक मंत्री का नजदीकी बताया जाता है, जिसके कारण उसकी कंपनी पर कोई अधिकारी एक्शन लेने की हिम्मत नहीं कर पाता है।

अन्य समाचार