मुख्यपृष्ठसमाचार‘विक्रांत बचाओ' के नाम पर पैसे हड़पने के मामले में भाजपा को...

‘विक्रांत बचाओ’ के नाम पर पैसे हड़पने के मामले में भाजपा को भी बनाया जाए सह आरोपी! कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले की मांग

सामना संवाददाता / मुंबई। भारतीय सेना के युद्धपोत आईएनएस ‘विक्रांत बचाओ’ अभियान के तहत आम जनता से भाजपा और किरीट सोमैया द्वारा एकत्र किए गए धन का हिसाब देश के लोगों को दिया जाना चाहिए। यह मांग प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने की है। किरीट सोमैया ने कहा है कि एकत्र किया गया धन भारतीय जनता पार्टी को दिया गया था लेकिन यह धन सरकारी खजाने में जमा नहीं कराया गया। यह आम जनता के साथ विश्वासघात और गंभीर अपराध है। नाना पटोले ने कहा कि अगर यह फंड भाजपा को दिया गया तो इस मामले में भाजपा को भी सह आरोपी बनाकर तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष और कोषाध्यक्ष से भी पूछताछ की जानी चाहिए।
इस मुद्दे पर आगे बोलते हुए नाना पटोले ने कहा कि किरीट सोमैया ने आईएनएस ‘विक्रांत बचाओ’ अभियान के तहत १४० करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य निर्धारित किया था। इसके लिए किरीट सोमैया व भाजपा पदाधिकारियों ने हाथों में डिब्बे लेकर ‘सेव विक्रांत’ के नाम पर आम लोगों से चंदा वसूल किया था लेकिन इस पैसे की कोई रसीद नहीं दी गई। लोगों से चंदा वसूलने के लिए किसी की परमिशन भी नहीं ली गई थी। मीडिया की खबरों के मुताबिक सोमैया के अधिवक्ताओं ने हाई कोर्ट में कहा है कि लोगों से एकत्र किया गया धन राजभवन, राष्ट्रपति भवन या रक्षा मंत्रालय में जमा न कर यह भाजपा को दिया गया था। यह लोगों की देश भावना के साथ विश्वासघात है और यह चंदा झूठ बोलकर जमा किया गया है। अगर भाजपा ने यह पैसा लिया है तो यह भी एक अपराध है इसलिए भाजपा और उसके प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए।

अन्य समाचार