मुख्यपृष्ठसमाचारहर हाल में मीरा रोड को अशांत करना चाहते हैं भाजपाई

हर हाल में मीरा रोड को अशांत करना चाहते हैं भाजपाई

-राणे पुत्र के बाद टी राजा सिंह की पुलिस को चुनौती

-गृहमंत्री देवेंद्र फडणवीस साधे बैठे हैं चुप्पी

चंद्रकांत दुबे / मीरा रोड

मीरा रोड का माहौल बिगाड़ने के लिए भाजपा आमादा नजर आ रही है। जैसे-तैसे पुलिस और स्थानीय नेताओं की पहल से माहौल खराब करने का प्रयास किया जा रहा है। अब सरकार और पुलिस के सामने भाजपा के एक और विधायक चुनौती खड़ी कर रहे है। हैदराबाद के भाजपा विधायक टी राजा सिंह २५ फरवरी को मीरा रोड में चैलेंज देकर कार्यक्रम करने जा रहे हैं। इससे पहले केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के विधायक पुुत्र नितेश राणे ने भी यहां माहौल बिगाड़ने का काम किया था।
गौरतलब हो कि २१ जनवरी की घटना के बाद अन्य जगहों से नेताओं का आना-जाना जारी रहा है। वे अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए भड़काऊ बयान देते हैं, जिससे शहर का माहौल खराब हो रहा है। स्थानीय पत्रकारों ने पहल कर सभी राजनीतिक दलों के मुखिया सहित पुलिस आयुक्त और मनपा आयुक्त की एक मीटिंग बुलाई थी। तय हुआ था कि यहां का माहौल खराब न हो, इसके लिए बाहरी किसी भी नेता को यहां आने नहीं दिया जाएगा। नेता बयानबाजी करके चले जाएंगे, जिसका खामियाजा स्थानीय लोगों को भुगतना पड़ेगा। पुलिस की तत्परता से माहौल शांतिपूर्ण हुआ, साथ ही उपद्रवियों पर कड़ी कार्रवाई की गई और चल भी रही है। पर अब फिर से भाजपा विधायक आग में घी डालने का काम कर रहे हैं और प्रदेश गृहमंत्री देवेंद्र फडणवीस चुप्पी साधे बैठे हैं।
टी राजा सिंह के कार्यक्रम को भी पुलिस ने नहीं दी परमिशन
बताया जा रहा है कि १९ फरवरी को ही टी राजा सिंह छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती पर मीरा रोड आने वाले थे, लेकिन कुछ कारणों से कार्यक्रम में बदलाव हुआ। सकल हिन्दू समाज संगठन के नरेश निले जो टी राजा सिंह के कार्यक्रम का आयोजक हैं, उन्होंने मीरा रोड और काशीमीरा पुलिस से कार्यक्रम के आयोजन की परमिशन मांगी थी। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेंद्र कांबले के जवाबी पत्र के माध्यम से पुलिस टी राजा सिंह की पृष्ठभूमि को देखते हुए परमिशन देने से मना कर दिया।
भड़काऊ भाषण देना उद्देश्य नहीं!
सोशल मीडिया के माध्यम से टी राजा सिंह ने बताया कि भड़काऊ भाषण देना उनका उद्देश्य नहीं है, लेकिन हमें मजबूर मत करो कि मैं कोई गलत बोलूं! हमारा लक्ष्य है कि हर मावले के मन में शिवाजी महाराज की भावना जागृत हो। उसी उद्देश्य से २५ फरवरी को मीरा रोड आ रहे हैं। कार्यक्रम होने दें, पुलिस परमिशन दे या न दे, कोई बात नहीं! कार्यक्रम तो होगा ही और होकर रहेगा। किसी भी हाल में, किसी भी हालात में, यानी २५ तारीख को शाम ५ बजे मीरा रोड में कार्यक्रम होगा। कोई रोक नहीं सकता!
एमबीवीवी पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है। पुलिस आयुक्त मधुकर पांडेय के निर्देश पर जोन-१ के डीसीपी प्रकाश गायकवाड़ के मार्गदर्शन में जगह-जगह ‘सरप्राइज’ नाकाबंदी की जा रही है। पुलिस की सक्रियता से ही एआईएमआईएम के नेता वारिस पठान को दहिसर चेकनाका पर रोक लिया गया था, जो सोमवार को मीरा रोड आ रहे थे। पुलिस का कहना था कि उनके यहां आने से और बयानबाजी करने पर शहर का माहौल खराब हो सकता है।

अन्य समाचार