मुख्यपृष्ठनए समाचारजीत के लिए कुछ भी करेंगे भाजपाई ... वोटिंग के दिन धांधली...

जीत के लिए कुछ भी करेंगे भाजपाई … वोटिंग के दिन धांधली करने से बाज नहीं आई बीजेपी! … कहीं हुआ फर्जी मतदान तो कहीं जबरदस्त गड़बड़ी

 ठाणे में फर्जी वोटिंग मामला गरमाया
 जितेंद्र आव्हाड ने लगाए प्रशासन पर गंभीर आरोप
सामना संवाददाता / ठाणे
राकांपा (शरदचंद्र पवार) विधायक जितेंद्र आव्हाड ने ठाणे में बड़े पैमाने पर फर्जी वोटिंग होने का आरोप मुख्यमंत्री पर लगाया है। आव्हाड ने कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के दबाव में ठाणे के विभिन्न मतदान केंद्रों पर फर्जी वोटिंग की गई है, वहीं शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) सांसद राजन विचारे ने भी ठाणे में फर्जी वोटिंग का आरोप लगाया है।
बता दें कि सोमवार को आव्हाड और उनके परिवार के सदस्यों ने महाराष्ट्र विद्यालय में मतदान किया। इसके बाद उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में यह आरोप लगाया। इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि जिस स्कूल में मैं वोट देने आया हूं, उसी स्कूल में फर्जी वोटिंग हुई है। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री पर पलटवार करते हुए जवाब दिया कि ४ जून को देखेंगे कि किसका विकेट गिरेगा? आव्हाड ने कहा कि इसका फैसला मतदाता करेंगे। उन्होंने यह भी टिप्पणी की कि विपक्ष ५१ सीटें जीतने का दावा कर रहा ऐसे में क्या वे तीन सीटें अब पाकिस्तान से लाएंगे, ऐसा तंज भी आव्हाड ने इस दौरान कसा।
इस दौरान आव्हाड ने वोटिंग प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए कहा कि ठाणे में फर्जी वोटिंग चल रही है। सरकारी व्यवस्था पूरी तरह से दबाव में है। आव्हाड ने आरोप लगाया कि जहां उन्हें लग रहा है कि वोट का नुकसान होने वाला है। वहां उन्होंने मशीन धीमी कर दी है। साथ ही, `अगर चुनाव आयोग कठपुतली की तरह काम कर रहा है और अधिकारियों ने जानबूझकर मशीन को धीमा किया है तो इससे अच्छा है कि चुनाव न कराएं और रद्द कर दें।’
शिवसेना ने भी लगाया फर्जी वोटिंग का आरोप!
इंडिया आघाड़ी के उम्मीदवार और सांसद राजन विचारे ने अपनी पत्नी नंदिनी विचारे और दो बेटियों के साथ पहले सिद्धिविनायक मंदिर जाकर दर्शन किए और फिर धर्मवीर आनंद दिघे के समाधि स्थल पर पहुंचकर उनका आशीर्वाद लेने के बाद चरई के सेंट जॉन स्कूल में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। उस वक्त उन्होंने देखा कि ठाणे के ज्यादातर मतदान केंद्रों पर सुबह फर्जी वोटिंग हुई थी।
बोगस मतदान के बाद
टेंडरिंग प्रक्रिया के तहत मतदान
पांचवें चरण में कल ठाणे लोकसभा क्षेत्र में मतदान हुआ। इस बीच एक अजीब तरह का मतदान किए जाने का मामला सामने आया है। दरअसल, जब एक मतदाता ठाणे विधानसभा क्षेत्र में मतदान केंद्र संख्या २७३ पर मतदान करने गया, तो केंद्र प्रमुख ने बताया कि उसके स्थान पर किसी अन्य व्यक्ति ने मतदान किया है। इसके बाद इस मतदाता की पहचान सुनिश्चित होने के बाद इस मूल मतदाता ने भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार टेंडर वोटिंग के जरिए अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस संदर्भ में सहायक चुनाव रिटर्निंग अधिकारी उर्मिला पाटील ने कहा, `यदि किसी मतदाता के स्थान पर किसी अन्य व्यक्ति ने मतदान किया है तो भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार, मतपत्र संबंधित मतदाता को सौंपकर मूल मतदाता की पहचान सुनिश्चित करने का प्रावधान किया गया है।

अन्य समाचार