मुख्यपृष्ठसमाचारगल्ली से दिल्ली तक भाजपा की तानाशाही; भ्रष्टाचार उजागर करने की प्रेस...

गल्ली से दिल्ली तक भाजपा की तानाशाही; भ्रष्टाचार उजागर करने की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर रोक

सामना संवाददाता / भायंदर
मीरा-भायंदर महानगरपालिका में विगत ५ वर्षों से सत्तासीन भाजपा द्वारा महिला व बाल कल्याण विभाग में हुए करोड़ों के भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए महाराष्ट्र युवक कांग्रेस के प्रदेश सचिव दीप काकड़े की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर शुक्रवार को मनपा प्रशासन द्वारा रोक लगा दी गई, जिसे सत्ताधारियों की राजनीति से प्रेरित तुगलकी फरमान के रूप में देखा जा रहा है। इससे गल्ली से दिल्ली तक भाजपा की तानाशाही उजागर हुई है।
बता दें कि काकड़े ने विगत ५ वर्षों के भाजपा के शासन में मनपा महिला व बाल कल्याण विभाग के विभिन्न कार्यों के ठेके और अनियमितताओं के साथ हुए करीब १९ करोड़ रुपए के भ्रष्टाचार की शिकायत मनपा आयुक्त दिलीप ढोले, पुलिस आयुक्त सदानंद दाते से की थी। इस संबंध में महापौर ज्योत्स्ना हसनाले ने दीप काकड़े के ऊपर ठेकेदारों से तीन लाख रुपए लेने के सार्वजनिक आरोप लगाए थे। उक्त आरोप और भ्रष्टाचार के प्रकरण में अपना पक्ष रखने के लिए काकड़े शुक्रवार को मनपा मुख्यालय में स्थित पत्रकार कक्ष में प्रेस कॉन्प्रेंâस लेना चाहा तो उसे मनपा प्रशासन द्वारा रोक दिया गया। इस संदर्भ में मनपा के जनसंपर्क अधिकारी ने दलील दी है कि मीरा-भायंदर मनपा चुनाव २०२२ की प्रक्रिया शुरू है, इसलिए मनपा पत्रकार कक्ष में पत्रकार परिषद लेने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

अन्य समाचार