मुख्यपृष्ठसमाचारदिल्ली से दरकेगा भाजपा का किला

दिल्ली से दरकेगा भाजपा का किला

-उत्तर प्रदेश के बाद कांग्रेस का दिल्ली में भी समझौता!

-कांग्रेस-सपा और आप ने किया सीट बंटवारे का रास्ता साफ

सामना संवाददाता / नई दिल्ली

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले `इंडिया’ गठबंधन की लगातार बढ़ती ताकत से भाजपा को झटके पर झटका लग रहा है। पहले यूपी में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस एक साथ आकर भाजपा को अचंभित कर दिया, अब दिल्ली में भी आम आदमी पार्टी के साथ `इंडिया’ गठबंधन पर मुहर लगने की खबर ने भाजपा की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। उत्तर प्रदेश के बाद अब दिल्ली में भी `आप’ पार्टी के साथ कांग्रेस का गठबंधन लगभग फाइनल हो चुका है। सूत्रों के अनुसार, दोनों दलों के बीच सीट बंटवारे का फार्मूला भी बन गया है। सपा-आप और कांग्रेस के बीच सीटों के बंटवारे का रास्ता साफ हो चुका है। ऐसे में `इंडिया’ गठबंधन मजबूत होने से दिल्ली में भाजपा का किला दरकते नजर आ रहा है। दिल्ली में सात सीटों में से कांग्रेस तीन और `आप’ चार पर चुनाव लड़ेगी। गुजरात और हरियाणा में कांग्रेस के साथ `आप’ ने पहले ही बातें फाइनल कर ली है। आगामी लोकसभा चुनाव में आप और कांग्रेस कुल तीन राज्यों में सीटों के बंटवारे पर सहमति बना चुकी हैं।
बता दें कि पिछले चुनाव में भाजपा का वोट शेयर सभी ७ सीटों पर ५० फीसदी से ज्यादा था। भाजपा को अकेले ५६.९ प्रतिशत वोट मिले थे। ऐसे में अब जब आप और कांग्रेस साथ आ जाएंगी तो भाजपा को कड़ी टक्कर मिलेगी। दिल्ली में सीटों पर भाजपा ने वर्ष २०१९ में जीत हासिल की थी, लेकिन इस बार भाजपा को `इंडिया’ से जोरदार टक्कर मिलेगी। ऐसा माना जा रहा है।
तीन राज्यों में आप-कांग्रेस की बानी बात
इससे पहले मंगलवार को सीएम केजरीवाल ने कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी में सीटों के तालमेल के लिए बातचीत ‘अंतिम चरण’ में है और जल्द ही दोनों दलों के बीच गठबंधन की घोषणा की जाएगी। उन्होंने कहा कि ‘इसमें काफी देर हो चुकी है, यह बहुत पहले हो जाना चाहिए था। अरविंद केजरीवाल ने आगे बताया कि बाकी अन्य राज्यों में गठबंधन के लिए भी बातचीत काफी अच्छी चल रही है। सूत्रों की मानें तो आम आदमी पार्टी दक्षिणी दिल्ली, उत्तर-पश्चिम दिल्ली, नई दिल्ली और पश्चिमी दिल्ली की सीट पर चुनाव लड़ सकती है। वहीं बाकी की बची हुई तीन सीटें उत्तर पूर्वी, चांदनी चौक और पूर्वी दिल्ली कांग्रेस को दी जा सकती हैं। वहीं हरियाणा में कांग्रेस, आम आदमी पार्टी को एक तथा गुजरात में २ सीटें देगी। इसकी आधिकारिक घोषणा जल्द ही की जाएगी।
गिरेगा भाजपा का वोट प्रतिशत
`आप’ पार्टी और कांग्रेस के बीच हुए इस गठबंधन से भाजपा को `इंडिया’ से चुनौती मिलेगी, दिल्ली में अपनी मजबूत स्थिति का दावा करनेवाली भाजपा का वोट प्रतिशत अब आधे से ज्यादा गिर सकता है, जिसे लेकर भाजपा परेशान नजर आ रही है, उसके नेताओं की बेतुके बयानबाजी से साबित होता है कि उनके बीच कितनी हलचल मची है। जिसे देखते हुए आप पार्टी के नेता ने स्पष्ट कहा कि इस गठबंधन की घोषणा होने पर अगले दिन ही केजरीवाल को ईडी गिरफ्तार कर सकती है।

अन्य समाचार