मुख्यपृष्ठनए समाचारराष्ट्रपति चुनाव में संख्याबल जुटाने के लिए भाजपा का खेल, महाराष्ट्र सरकार...

राष्ट्रपति चुनाव में संख्याबल जुटाने के लिए भाजपा का खेल, महाराष्ट्र सरकार को कर रही अस्थिर!

सामना संवाददाता / मुंबई
भारतीय जनता पार्टी एवं केंद्र सरकार राष्ट्रपति चुनाव में संख्याबल जुटाने के मकसद से महाराष्ट्र की महाविकास आघाड़ी सरकार को अस्थिर करने का ‘खेल’ कर रही है। यह आरोप कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कल गुरुवार को लगाया। उन्होंने कहा कि शिवसेना नेता संजय राऊत ने महाविकास आघाड़ी सरकार से उनकी पार्टी के बाहर निकलने की संभावना संबंधी बयान इसलिए दिया होगा, ताकि उनके विधायक वापस लौटकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के समक्ष अपनी बात रख सकें।
खड़गे ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा महाराष्ट्र की सरकार गिराने के लिए बहुत कोशिश कर रही है। शिवसेना के विधायकों को पहले सूरत और फिर गुवाहाटी ले जाया गया। यह भाजपा का खेल है। महाविकास आघाड़ी सरकार एक मजबूत सरकार है लेकिन भाजपा उसे अस्थिर करने के लिए पूरी कोशिश कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा चाहती है कि कोई भी गैर भाजपा सरकार अस्तित्व में नहीं रहे। राष्ट्रपति चुनाव में उन्हें संख्या बल की जरूरत है। इस कारण वे इस चुनाव के समय भी सरकार गिराना चाहते हैं। इस स्थिति के लिए केंद्र की भाजपा सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है।

उन्होंने कहा कि हम कांग्रेस पार्टी की ओर से कहना चाहते हैं कि हम तीनों मिलकर रहेंगे और महाविकास आघाड़ी को मजबूत करेंगे। जो जरूरत होगी, हम वह सब करेंगे। महाविकास आघाड़ी सरकार महाराष्ट्र के विकास के लिए बनी है। यह सरकार विकास कर रही है। अगर वो लोग (शिवसेना के बागी विधायक) वापस आएंगे तो मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी बात रख सकेंगे और समस्या का हल निकल जाएगा।

असल मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश
इससे पहले कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम से जुड़े एक सवाल के जवाब में संवाददाताओं से कहा कि हमारा विश्वास मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर है। हम अपने महाराष्ट्र के साथियों के साथ संपर्क में हैं। हमें भरोसा है कि स्थिर सरकार को गिराने और राज्य को अस्थिरता में ले जाने की भाजपा की मंशा सफल नहीं होगी। उन्होंने दावा किया कि ऐसे समय जब (असम में) बाढ़ आई हुई है, किसान और नौजवान परेशान हैं, कई जगहों पर भ्रष्टाचार है, तब भाजपा इन मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है।

अन्य समाचार