मुख्यपृष्ठसमाचारहिमाचल में भाजपा का ऑपरेशन फेल!

हिमाचल में भाजपा का ऑपरेशन फेल!

 -सुक्खू बने रहेंगे सीएम…नंबर गेम में कांग्रेस पास

सामना संवाददाता / नई दिल्ली 

भाजपा विधायकों को `खोके’ देकर अपने पक्ष में करती है और फिर धीरे से ऑपरेशन लोटस गेम खेलती है, लेकिन हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस के सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू के सामने भाजपा की एक नहीं चली। यहां तमाम प्रयासों के बावजूद भाजपा का ऑपरेशन लोटस प्लान फेल हो गया है।
बुधवार को विधानसभा में कांग्रेस नंबर गेम में पास हो गई। कांग्रेस के मुख्यमंत्री सुक्खू ने भाजपा को तगड़ा झटका दिया। राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार के खिलाफ क्रॉस वोटिंग करने वाले सत्ताधारी दल के छह विधायकों पर कार्रवाई की तो पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद अटकलें लगाई जा रही थीं कि अब सुक्खू मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देंगे। लेकिन सुक्खू ने भाजपा की चाल को समझते हुए पैंतरा खेला। विधानसभा की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया, जिसके बाद से पूरा मामला ठंडा पड़ गया।
विधानसभा के नंबर गेम में कांग्रेस ने बाजी मारते हुए सरकार बचा ली, जिसके बाद सुक्खू सरकार बचाने और पांच साल चलाने के दावे कर रहे हैं। कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन जयराम रमेश भी हिमाचल में जारी रस्साकशी के बीच सामने आए और साफ कहा कि अभी हमारी प्राथमिकता सरकार बचाना है, हमने फिलहाल ऑपरेशन लोटस को फेल कर दिया है।
विधानसभा में हंगामे के बीच कांग्रेस ने चालाकी से बजट पारित कराया और बाद में सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गई। इसी के साथ सुक्खू सरकार को फिलहाल फौरी राहत मिल गई है। कहा जा रहा है कि सुक्खू सरकार कम से कम विधानसभा के अगले सत्र तक के लिए सुरक्षित हो गई है। उधर सुक्खू सरकार को मिली इस फौरी राहत से कांग्रेस को डैमेज कंट्रोल के लिए समय जरूर मिल गया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने विश्वास जताया है कि सरकार पर कोई खतरा नहीं है।
बता दें कि भाजपा इससे पहले मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार और महाराष्ट्र में महाविकास आघाड़ी सरकार को गिराने के लिए ऑपरेशन लोटस कर चुकी है, लेकिन हिमाचल में उसे झटका लगा है। ऑपरेशन लोटस को सफल बनाने के लिए भाजपा निचले स्तर तक जाकर राजनीति करती है।

अन्य समाचार