मुख्यपृष्ठटॉप समाचारभाजपा का पोस्टर पैंतरा उल्टा पड़ा! राहुल का कठपुतलीवाला मजाक उड़ाने पर...

भाजपा का पोस्टर पैंतरा उल्टा पड़ा! राहुल का कठपुतलीवाला मजाक उड़ाने पर भाजपा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर किरकिरी, पहले भी राहुल गांधी को रावण बनाकर दिखा चुकी है सत्ताधारी पार्टी

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
इंसान कर्मों से महान बनता है, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली नई भाजपा खुद को श्रेष्ठ साबित करने के लिए विरोधियों की यथासंभव बदनामी और उपहास बनाकर उनकी छवि खराब करने की नीति में विश्वास रखती है। वर्ष २०१४ में हुए लोकसभा चुनाव के पहले से लेकर आज तक टीम मोदी यही हथकंडा अपनाती आई है। केंद्रीय एजेंसियों की मदद से विपक्षी नेताओं को बदनाम करने के प्रयास में मोदी सरकार को पहले ही कई बार अदालतों की फटकार सहनी पड़ी है और अब जनता भी उसकी कुटिल चालों को समझ चुकी है। इससे मोदी सरकार डर गई है, लेकिन उसकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) फिर भी बाज नहीं आ रही है। भाजपा ‘पोस्टर पैंतरे’ के जरिए खासकर कांग्रेसी नेता राहुल गांधी को लगातार निशाना बनाने का प्रयास करती रही है। हालांकि, उसके पोस्टर पैंतरा भी अब उल्टा पड़ने लगा है। ऐसे ही एक मामले में यहूदी विरोधी पोस्टर के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री मोदी और उनकी पार्टी भाजपा की चहुंओर आलोचना हो रही है। इस विरोध की एक वजह यह भी है, कठपुतली चलाने को यहूदी-विरोधी संकेत माना जाता है। यह लंबे समय से चले आ रहे यहूदी विरोधी विचार को बल देता है।
बता दें कि भाजपा की सोशल मीडिया सेल ने एक पोस्टर साझा किया है, जिसमें राहुल गांधी को पहले भी बनाया था भाजपा ने पोस्टर
गौरतलब हो कि यह कोई पहला मामला नहीं है जब पीएम मोदी की नई भाजपा ने राहुल गांधी को अपमानित करने का प्रयास किया हो। भाजपा ने इससे पहले राहुल गांधी का एक पोस्टर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था, जिसमें उन्हें रावण के तौर पर दिखाया गया है। भाजपा द्वारा ट्वीट किए गए राहुल गांधी के उक्त पोस्टर में राहुल को नए युग के रावण के रूप में दिखाया गया है।

अन्य समाचार