मुख्यपृष्ठटॉप समाचारभाजपा की कहनी, हटाए गए सहनी!....विधायकों के बाद मंत्री पद भी लूटा

भाजपा की कहनी, हटाए गए सहनी!….विधायकों के बाद मंत्री पद भी लूटा

• अगला नंबर ‘सुशासन बाबू’ का!
सामना संवाददाता / पटना। बिहार की राजनीति में इन दिनों दिलचस्प एवं नाटकीय घटनाएं घट रही हैं। विकासशील इंसान पार्टी के संस्थापक और बिहार सरकार के पशुपालन एवं मत्‍स्‍य संसाधन मंत्री मुकेश सहनी जिस तेजी से अर्श पर पहुंचे थे उससे कहीं ज्यादा तेज रफ्तार से वे जमीन पर गिरे हैं। भाजपा ने पहले उनके तीन विधायक को तोड़ कर अपने साथ मिला लिया, बाद में मुख्यमंत्री नीतिश कुमार से कहकर सहनी का मंत्री पद भी छिनवा लिया।
नीतिश कुमार ने कल मुकेश सहनी को मंत्रीपद से बर्खास्त करने की अनुशंसा राज्यपाल से कर दी। इस तरह भाजपा द्वारा पूरी तरह लूटे जाने के बाद सहनी जहां भाजपा को दगाबाज ठहरा रहे हैं तो वहीं भाजपा सहनी पर विश्वासघात करने का आरोप लगा रही है। हालांकि इसी बीच भाजपा की फितरत से वाकिफ लोग अब सुशासन बाबू यानी कि मुख्यमंत्री नीतिश कुमार व उनकी पार्टी जदयू के भविष्य को लेकर चिंता जताने लगे हैं। क्योंकि सत्ता के लिए कुछ भी करने को तैयार भाजपा अब बिहार विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी बन गई है। पहले चिराग पासवान और अब सहनी को साफ कर चुकी भाजपा नीतिश कुमार को ज्यादा दिन नहीं झेलेगी, ऐसा भाजपा और बिहार की राजनीति की जानकारी रखनेवालों का मानना है। सहनी वाला फॉर्मूला भाजपा आरजेडी के लिए भी इस्तेमाल कर सकती है।
बता दें कि फिल्मों के लिए सेट डिजाइन करने वाले सहनी ने २०१४-१५ के विधानसभा चुनाव के दौरान बिहार की राजनीति में प्रवेश किया था। भाजपा ने निषाद वोट बैंक को साधने की मंशा से उन्हें तरजीह देकर प्रचारक बनाया। इसके बाद सहनी ने २०१८ में विकासशील इंसान पार्टी का गठन किया। २०२० विधानसभा के चुनाव के लिए भाजपा ने एक बार फिर सहनी पर दांव खेलने का निर्णय लिया। एनडीए का सहयोगी बनकर सहनी की पार्टी के उम्मीदवार ११ सीटों पर चुनाव लड़े और सहनी के तीन उम्मीदवार जीतकर विधायक बन गए और सहनी के साथ का लाभ भाजपा को भी मिला। इससे खुश होकर भाजपा ने सहनी को विधानपरिषद का टिकट दे दिया और बाद में मंत्री बना दिया। लेकिन हाल ही में संपन्न हुए यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान सहनी और भाजपा के संबंध बिगड़ गए। सहनी ने यूपी में भाजपा उम्मीदवारों के खिलाफ अपने उम्मीदवार खड़े कर दिए। इससे गुस्साई भाजपा ने सहनी के विधायकों को अपनी पार्टी में मिला लिया तथा महज ४९६ दिनों में सहनी का मंत्री पद भी छीन लिया। भाजपा की अनुशंसा पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को मत्स्य पालन एवं पशुपालन मंत्री मुकेश सहनी को अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया है। इससे लोग कह रहे हैं कि घबराए नीतिश कुमार अब सत्ता बचाने के लिए भाजपा के आगे झुकने को मजबूर हो गए हैं। लेकिन मजबूरी में डेढ़ साल से नीतिश को ढो रहे भाजपाई जल्द ही जदयू को भी छत विक्षप्त कर देंगे, ऐसा राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा का कहना है।

अन्य समाचार