मुख्यपृष्ठसमाचारयूपी विस चुनाव में कानून हुआ भंग... भाजपा का दिखा असली रंग!

यूपी विस चुनाव में कानून हुआ भंग… भाजपा का दिखा असली रंग!

• एमएलसी चुनाव में भी योगी करा सकते हैं दंगा
• शिवपाल सिंह को सता रहा है बेईमानी का डर
मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ। यूपी में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने कानून की धज्जियां उड़ाकर मनमामी ढंग से मतदाताओं को डरा-धमकाकर कई जगहों पर मतदान केंद्रों पर नहीं जाने दिया और कहीं पर वोट देने से पहले ही उनके वोट डाल दिए गए। भाजपा शासन में लोकतंत्र की कभी भी उम्मीद नहीं की जा सकती है। योगी राज में यही डर फिर सपा को सताने लगा है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव के चाचा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने एमएलसी चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्‍होंने कहा कि अगर यूपी विधान परिषद चुनाव में सत्‍ता में काबिज भाजपा ने बेईमानी नहीं की तो समाजवादी पार्टी के कैंडिडेट बड़ी तादात में जीत हासिल करने में कामयाब हो जाएंगे। शिवपाल सिंह यादव ने साथ कहा कि पंचायत चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा की ओर से हुई बेईमानी हर किसी ने देखी है। अब एमएलसी के चुनाव की प्रकिया शुरू हो गई है जिसमें समाजवादी पार्टी गठबंधन के उम्मीदवार खासी तादात में हर ओर जीतते हुए दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर भाजपा ने किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी न की होती तो आज यूपी में सपा गठबंधन जीत हासिल कर सत्ता में होती।
भाजपा ने की लोकतंत्र की हत्या
शिवपाल सिंह यादव ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर बेईमानी नहीं हुई तो हम लोग एमएलसी का चुनाव बहुमत से जीतेंग। साथ ही कहा कि हम लड़ेंगे, निकलेंगे और भाजपा को हटाएंगे। यादव ने कहा कि विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी का वोट प्रतिशत बढ़ा है और भाजपा ने अगर बेईमानी नहीं की होती तो परिणाम कुछ अलग होता। उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोकतंत्र की हत्या की है। इसके पीछे भाजपा को अधिकारियों का पूरा सहयोग मिला है। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव में योगी सरकार, केंद्र सरकार और मंत्रियों को भी पैसे बांटने में लगाया गया था। अब हम लोग गरीब और मजलूमों की लड़ाई के लिए निकलेंगे। छात्र और नौजवान सभी लोग हमारे साथ हैं। प्रदेश और देश से भाजपा को हटाएंगे।

अन्य समाचार