मुख्यपृष्ठअपराधकानून का मुंह काला : यूपी में अपराध का बोलबाला!

कानून का मुंह काला : यूपी में अपराध का बोलबाला!

राज्य में निर्वाचित सदस्यों सहित सामाजिक कार्यकर्ताओं पर बरस रही हैं दनादन गोलियां

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ
`भाजपा का राज होगा, भयमुक्त समाज होगा’ का नारा देकर यूपी में दोबारा सरकार बनाने वाले भाजपा राज में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। कानून का मुंह काला हो चुका है। यहां अपराधों का बोलबाला है। राज्य में निर्वाचित सदस्यों सहित सामाजिक कार्यकर्ताओं पर दनादन गोलियां बरस रही हैं।
बता दें कि देवरिया में ग्राम्य विकास राज्य मंत्री विजय लक्ष्मी गौतम की कार पर हमला हुआ। हमले में मंत्री की कार का शीशा टूट गया। मंत्री के पीएसओ की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज करते हुए बुलेट सवार नाबालिग को गिरफ्तार कर लिया है। विजय लक्ष्मी गौतम देवरिया जिले की सलेमपुर सीट से भाजपा की विधायक हैं। बीते सोमवार को वे अपनी एस्कॉर्ट के साथ देवरिया के सोनूघाट रास्ते से होते हुए कुशीनगर जा रही थीं। इसी दौरान परसिया भंडारी गांव के पास यह घटना हुई, जिसमें उनके काफिले की कार का साइड मिरर टूट गया और सामने लगे शीशे में भी क्रैक आया है।

आगरा में बाइक सवारों ने किया हमला
आगरा में बुधवार की दोपहर बाइक सवार हमलावर घर के सामने भाजपा नेता को गोली मारकर मौके से फरार हो गए। भाजपा नेता गोली लगने से लहूलुहान होकर वहीं गिर गए। परिजनों ने देखा तो उन्हें लेकर तत्काल अस्पताल पहुंचे। यहां उनकी हालत नाजुक बताई जा रही है। घटना न्यू आगरा थाना क्षेत्र के विजय नगर कॉलोनी नगला धनी बस्ती की है। पुलिस आस-पास लगे सीसीटीवी वैâमरों को खंगाल रही है। डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि घायल का पहले से पारिवारिक विवाद चल रहा है। इसी विवाद में गोली मारे जाने की आशंका है। जांच की जा रही है, वहीं मोहल्लेवासियों ने बताया कि राकेश का प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा है। इसी के चलते गोली मारे जाने की आशंका है।

सहारनपुर में अभिषेक पंडित की हत्या
सहारनपुर में शुक्रवार देर रात को बजरंग दल के कार्यकर्ता अभिषेक पंडित को बदमाशों ने गोली मार दी। गोली उनके बाएं हाथ में लगी। गोली की आवाज सुनकर आस-पास के लोग भी एकत्रित हो गए। घायल को दिल्ली रोड के मेडिग्राम में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, दो साल पहले आरोपियों ने एक लड़की का अपहरण कर धर्म परिवर्तन करा लिया था, जिसका बजरंगदल नेता ने विरोध किया था। गिरफ्तार आरोपी शहराज व सलमान ने बताया कि शहराज ने जब लड़की का धर्मांतरण करवा के निकाह किया था, तभी से बजरंगदल नेता अभिषेक पंडित उसके निशाने पर था।

मुरादाबाद में अनुज चौधरी की मौत
संभल के ऐचोड़ा कंबोह थाना क्षेत्र के गांव अलिया नेकपुर निवासी भाजपा नेता अनुज चौधरी नया मुरादाबाद स्थित पार्श्वनाथ प्रतिभा सोसायटी में रहते थे, जबकि उनका परिवार अमरोहा के बुखारीपुर गांव में रहता है। बृहस्पतिवार शाम सोसायटी परिसर में अनुज चौधरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उन्हें पेट, सीने और सिर में पांच गोलियां मारी गई थीं। एक बाइक पर तीन बदमाशों ने मात्र १५ सेकेंड में वारदात को अंजाम दिया था। अनुज घटना के समय अपने भाई पुनीत चौधरी के साथ सोसायटी परिसर में ही रोज की तरह टहल रहे थे।

जंगलराज किसे कहेंगे?-रामगोविंद चौधरी
सप्ताह भर में घटी घटनाओं पर प्रदेश के विभिन्न राजनैतिक दलों ने निंदा की है। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोविंद चौधरी ने कहा कि इस कानून व्यवस्था को सुशासन कहेंगे तो जंगलराज किसे कहेंगे। दलित महिला जो प्रदेश सरकार में राज्य मंत्री है उन पर हमला होना सरकार पर हमला है। जौनपुर का वायरल वीडियो बहुत शर्मनाक है। वीडियो में दबंग बेटी को जबरन उठा ले जा रहे हैं। वो अपने आबरू और प्राण की भीख मांग रही है। भाजपा नेता स्वयं सुरक्षित नहीं हैं। कानून व्यवस्था को लेकर सरकार का दावा झूठा है। उन्होंने कहा कि जो सरकार तीन कार्यकाल से अपने राज्य में पूर्णकालिक पुलिस महानिदेशक नहीं दे पा रही है। वह राज्य के नागरिकों को सुरक्षा क्या प्रदान कर पाएगी।

अहंकारी सरकार सत्य स्वीकार नहीं कर रही -दीपक सिंह
कांग्रेस प्रवक्ता दीपक सिंह ने कहा कि यूपी में जंगलराज है। कानून व्यवस्था का दावा करने वाली पार्टी के नेताओं को गोलियों से भूना जा रहा है। अहंकारी सरकार इस सत्य को स्वीकार करने से भाग रही है। हर वर्ग के लोग त्रस्त हैं, जनता जाग गयी है। २०२४ में भाजपा का खाता नहीं खुलेगा। जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आयेगा भाजपा दंगा-फसाद की स्क्रिप्ट तैयार करेगी।

एटीएस ५ ने नक्सलियों को किया गिरफ्तार
१५ वर्ष बाद उत्तर प्रदेश में बिहार व झारखंड की सीमा से जुड़े जिलों में नक्सलियों की सक्रियता की आहट ने बुलडोजर सरकार की नींद उड़ा दी है। इन क्षेत्रों में सहयोगी संगठनों की मदद से नक्सल गतिविधियों को बढ़ाने की साजिश रची जा रही थी। एटीएस ने बलिया जिले से प्रतिबंधित संगठन सीपीआई (माओवादी) की गतिविधियों को बढ़ावा देने में जुटे पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। एटीएस अधिकारियों का कहना है कि इनके द्वारा सशस्त्र विद्रोह खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा था। एटीएस का दावा है कि इनके द्वारा सशस्त्र विद्रोह खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा था। आरोपियों के पास से सात मोबाइल फोन, लैपटाप, प्रतिबंधित संगठन से जुड़ा साहित्य, दस्तावेज, पेंपलेट, एक नाइन एमएम पिस्टल, दो कारतूस व १० हजार रुपए बरामद हुए हैं, जिनके आधार पर आगे की जांच हो रही है। आरोपियों को पुलिस की रिमांड पर लेने की तैयारी है।

 

अन्य समाचार

लालमलाल!