मुख्यपृष्ठटॉप समाचारहथगोला बनाते समय उड़ा हाथ!

हथगोला बनाते समय उड़ा हाथ!

•  महिला हुई घायल
• अस्पताल में चल रहा है उपचार

सामना संवाददाता / मुंबई । गोवंडी स्थित म्हाडा कॉलोनी की इमारत के एक घर में विस्फोटक (हथगोला) बनाते समय जोरदार धमाके के कारण आग लग गई, जिसमें एक ६० वर्षीय महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। महिला के दाएं हाथ की कलाई कट गई है। इस महिला को सायन हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। पुलिस ने घायल महिला के खिलाफ आईपीसी की गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। महिला के घर से विस्फोटक बनानेवाली सामग्री भी बड़ी मात्रा में बरामद हुई है।
बता दें कि पहला विस्फोट गुरुवार को हुआ था, जिसके कारण पूरे फ्लोर पर आग लग गई थी। देवनार पुलिस ने कार्रवाई की थी लेकिन उसके बाद घर के शौचालय में छुपाकर रखे विस्फोटक बनानेवाली सामग्री में शुक्रवार की सुबह करीब ३ बजे अचानक आग लग गई, जिसके बाद हुए धमाके से पूरी कॉलोनी दहल गई। पुलिस ने इस मामले में बम स्कॉड की भी मदद ली है। बताया जा रहा है कि इस विस्फोट के कारण आरोपी के घर को आंशिक रूप से नुकसान पहुंचा है, पड़ोसियों की खिड़कियों के कांच टूट गए। हालांकि दुर्घटना के समय घटनास्थल पर किसी और के नहीं होने की वजह से जान-माल का नुकसान नहीं हुआ है।
विस्फोटक बनाकर करते थे सप्लाई
जानकारी के अनुसार आरोपी महिला २००५-२००६ से गोवंडी की म्हाडा कॉलोनी की इसी इमारत में परिवार के साथ रहती है। पड़ोसियों से मिली जानकारी के मुताबिक ये लोग घर की गैलरी में लोहे की ग्रिल का गेट बंद कर अवैध रूप से विस्फोटक बनाने का काम करते थे। ये लोग किसी से अधिक संपर्क में नहीं रहते हैं। पड़ोसियों ने बहुत बार इन्हें मना किया लेकिन ये लोग किसी की नहीं सुन रहे थे। ये लोग घर में बारूद से विस्फोटक बनाने का काम करते थे और इसकी सप्लाई की जाती थी।
पहले भी हो चुका है ब्लास्ट
पड़ोसियों ने बताया कि १७ जुलाई को भी पहले महले पर एक विस्फोट हुआ था। उस घर में दुकानों तथा ऑफिसेस में लगनेवाले छोटे फायर ब्रिगेड सिलिंडर में अवैधरूप से गैस भरने का काम होता है और बाकायदा इस घर में गैस की टंकी बनाई गई थी। हालांकि उस समय भी बहुत लोग झुलस गए थे। देवनार पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रवींद्र अड़ाने ने बताया कि हमने महिला के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और अभी उसका इलाज चल रहा है। कहां से विस्फोटक बनाने की सामग्री लाते थे और किसको बेचते थे? आदि सवालों की जांच कर रहे हैं। इस धमाके की सूचना मिलने के बाद एडिशनल पुलिस कमिश्नर संजय दराडे और पुलिस उपायुक्त (जोन-६) कृष्णकांत उपाध्याय ने भी घटनास्थल का दौरा किया है।

अन्य समाचार