मुख्यपृष्ठस्तंभपुस्तक समीक्षा : समाज की विसंगतियों को आईना दिखानेवाला एलओसी- लव अपोज...

पुस्तक समीक्षा : समाज की विसंगतियों को आईना दिखानेवाला एलओसी- लव अपोज क्राइम

राजेश विक्रांत

जिज्ञासा पटेल लिखित ‘एलओसी- लव अपोज क्राइम’ की कहानी बेहद रोमांचक है। इसमें पल-पल स्थितियां बदलती रहती हैं। यह उपन्यास एक उभरती हुई अभिनेत्री नंदिनी द्वारा अपने जीवन व करियर में किए जा रहे संघर्षों के बहाने जहां एक तरफ मानवीय रिश्तों, पारिवारिक संबंधों की कड़वी सच्चाइयां पेश करता है, वहीं दूसरी तरफ समाज में फैली अपसंस्कृति व अनैतिकता की खिलाफत करते हुए बॉलीवुड में सक्रिय ह्यूमन ट्रैफिकिंग गैंग व ड्रग माफिया का भी पर्दाफाश करता है। यह पन्ने दर पन्ने आज के समाज की विसंगतियों को आईना भी दिखाता है। इसके अन्य पात्र रीनी, दीपक, राघव, पुलिस इंस्पेक्टर नितिन, राजमल, ममता, मीना, आदित्य, डॉ. मल्होत्रा, लावण्या, बतरा साहब, धीरज, पकिया, पप्पू चायवाला, डीएसपी राहुल त्रिपाठी, आरजे हेमलता आदि भी प्रभावित करते हैं। वलसाड के धर्मपुर के राजपुरी-तलाट की मूल निवासी जिज्ञासा का १९ साल की उम्र में पहला गुजराती उपन्यास ‘झांपो उदास छे’ के बाद विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में कॉलम लिखने का सिलसिला शुरू हो गया जैसे कि, ‘हवे सांज थवानी छे…’ (उपन्यास), ‘किनारो क्या?’ (उपन्यास), ‘साहित्य नी सरवाणी’ (विवेचनात्मक आलेख), ‘सत्यना सथवारे’ (सत्य घटना पर आधारित कथाएं), ‘खास मुलाकात’ (सेलिब्रिटी इंटरव्यू कॉलम), ‘विशाण व्यक्तित्व’ (साउथ पावर स्टार पवन कल्याण के बारे में लेखमाला), ‘खट्टी-मीठी बातें’ (इंटरव्यू कॉलम), ‘व्यथानी वात’ (लघु कथाएं), ‘शु अमने अवतरवा देशो?’ (अजन्मी बच्चियों के बारे में)। सन २०१६ में मुंबई शिफ्ट होने के बाद उन्होंने गुजराती फिल्मों एवं टेली फिल्मों में कॉन्सेप्ट, स्क्रीनप्ले और डायलॉग, कॉमेडी विडिओज में कॉन्सेप्ट लिखे। फिर राष्ट्रीय भाषा हिंदी में लिखने का मन बनाया। शुरुआत कविता से की फिर लघुकथा और कुछ अखबारों के लिए आर्टिकल लिखे। बाद में उपन्यास लिखने की हिम्मत की, सुपरिणाम प्रस्तुत उपन्यास ‘एलओसी: लव अपोज क्राइम’ है। कोरोनाकाल में उनका एक गुजराती उपन्यास कोरोनाडॉटकॉम मातृभारती में प्रकाशित होकर चर्चित हो चुका है। साहित्य में सफलता के बाद उन्होंने गुजराती सिनेमा के लिए अभिनय और पटकथा लिखना शुरू किया। फिल्म की स्क्रिप्ट के साथ-साथ गाने भी एवं कॉमिक सीरीज भी उन्होंने लिखी और नामी प्रोडक्शन हाउस के साथ उन्होंने काम किया। आज तक पचास से भी ज्यादा प्रोजेक्ट उन्होंने लिखे, जो यूट्यूब, ऐमएक्स प्लेयर, अमेजन म्यूजिक, जिओ सावन, गाना डॉट कॉम, मातृभारती आदि पर उपलब्ध है। उनके गानों में उनकी एक्टिंग को भी काफी सराहा गया। जिज्ञासा की लोकप्रियता गुजरात में नहीं, बल्कि पूरे देश में एक मशहूर लेखिका के तौर पर बनी हुई है। फिलहाल, वे करंट मुद्दों और समस्याओं पर सीधे और सटीक शब्दों में अपने लेखन के माध्यम से बेबाकी से अपनी राय रखती हैं, शायद अपने लिखने के अंदाज से ही आज उन्होंने लाखों पाठकों के दिल में अपनी एक अलग पहचान बनाई है।
‘एलओसी- लव अपोज क्राइम’ उपन्यास का संदेश यह है कि प्यार हमेशा जरायम यानी अपराध का विरोध करता है। इस उपन्यास को भारत पब्लिकेशन मुंबई ने प्रकाशित किया है। जाने-माने चित्रकार पंकज तिवारी ने इसका आवरण बनाया है।

अन्य समाचार