" /> शाबाश मनपा!… सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई मॉडल को सराहा

शाबाश मनपा!… सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई मॉडल को सराहा

 केंद्र को ऑक्सीजन मामले में फटकारा
कोरोना काल में किया सराहनीय काम
ऑक्सीजन आपूर्ति में भी रही अव्वल

कोरोना की दूसरी लहर के बीच देशभर में ऑक्सीजन की कमी को लेकर जहां हाहाकार मचा हुआ है, वहीं उत्तम प्रबंधन और उपाययोजनाओं के लिए मुंबई मनपा शाबाशी का हकदार साबित हुई है। ऑक्सीजन आपूर्ति मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को जोरदार फटकार लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मुंबई मॉडल की सराहना करते हुए केंद्र को मुंबई मॉडल से कुछ सीखने की सलाह दी है।
सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार पर दिल्ली में ऑक्सीजन आपूर्ति के आदेश की अवमानना मामले पर सुनवाई के दौरान जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि मुंबई मनपा ने कोरोना काल में सराहनीय काम किया है। ऑक्सीजन का भी मैनजेमेंट बहुत बढ़िया है। उन्होंने कहा कि कोरोना कंट्रोल और ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर मुंबई मनपा के मैनेजमेंट सिस्टम से सीखा जा सकता है। मुंबई मॉडल पर विश्लेषण किया जा सकता है। मुंबई मनपा अपने मॉडल प्रस्तुत भी कर सकती है। कोर्ट ने केंद्र से सीधा सवाल किया कि केंद्र के ऑक्सीजन वितरण का फार्मूला क्या है?
दिल्ली हाईकोर्ट की ओर से केंद्र को ऑक्सीजन आपूर्ति मामले में कोर्ट के आदेश की अवमानना को लेकर दिए गए कारण बताओ नोटिस के खिलाफ केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, जिस पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को दिल्ली में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन आपूर्ति नहीं करने को लेकर फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करना चाहिए। सिर्फ अधिकारियों को जेल भेज कर, उन पर अवमानना का मामला चला कर दिल्लीवालों को ऑक्सीजन नहीं दी जा सकती है। दोनों तरफ से सहयोग हो। हमें इस समस्या का हल चाहिए।