मुख्यपृष्ठस्तंभब्रेकिंग ब्लंडर : अफवाहें हैं, अफवाहों का क्या

ब्रेकिंग ब्लंडर : अफवाहें हैं, अफवाहों का क्या

राजेश विक्रांत

साहेबान, कदरदान, पिछले चंद दिनों से कुछ वेब साइट्स में प्रकाशित यह खबर पूरी तरह से निराधार और शरारतपूर्ण है कि मैं भारत-४८ न्यूज चैनल छोड़कर कहीं और जा रही हूं… किसी और चैनल का दामन पकड़ रही हूं। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि मैं गोदी मीडिया की चार्टर्ड मेंबर हूं,गोदी मीडिया के प्रिंसिपल्स की कमिटेड प्रसारक हूं। गोदीपन मेरे खून में है इसलिए मेरे पास विकल्प कम ही हैं, जो मीडिया गोदी प्रिंसिपल का फॉलोअर होगा, मैं वहीं सर्वाइव कर पाऊंगी। अन्य किसी चैनल में तो मैं जल बिन मीन की तरह तड़पती रहूंगी।
आपको पता होगा कि मैं जहां-जहां गई उस चैनल को गोदी मीडिया में तब्दील करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। सन २००७ में मैंने अपने करियर की शुरुआत की। बाद में न्यूज १४, कल तक, टी न्यूज और लाइव हिंदुस्तान टीवी के साथ भी काम किया। वीकेपी न्यूज पर मेरा शो `ताल झोंक के’ और `मास्टर ब्लंडर’ काफी सुपरहिट रहा।
कुल पांच सालों तक वीकेपी न्यूज में मैंने काम किया। आज वीकेपी न्यूज गोदी मीडिया का झंडाबरदार बन गया है। वीकेपी न्यूज में मेरा योगदान टीवी मीडिया के इतिहास में हमेशा याद रखा जाएगा। समाज को बांटना, नफरत पैâलाना,फेकिंग को ब्रेकिंग बनाना, कुर्सी की चरणवंदना, सत्ता की चाटुकारिता, खबर को खुजली का रूप देना, हिंदू मुस्लिम को आपस में लड़वाना आदि कई पवित्र काम मैंने समर्पित भावना से अंजाम दिए। अपने करियर मैंने सिर्फ मालिक व सत्ता की बात मानी, जनता की आवाज को नजरअंदाज किया। मेरी कामयाबी का मूलमंत्र यही रहा। जन भावनाओं को मैंने इस तरह नजरअंदाज किया कि वीकेपी न्यूज को मानव एंकर की बजाय एआई-आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंकर की शरण में जाना पड़ा।
मैं भारत ४८ में वाइस प्रेसिडेंट और एंकर की भूमिका में काफी खुश और संतुष्ट हूं। मेरे चैनल ने एक साल पूरा कर लिया है और मेरा चैनल आगामी चुनावों में विशुद्ध गोदी मीडिया के रूप में कार्यरत रहेगा। हमारे चैनल की इस छवि को कोई हिला नहीं सकता। हम गोदी मीडिया क्लब के फाउंडर मेंबर हैं।
हमारा चैनल `भारत ४८’ स्वयं को `नए भारत की दृष्टि’ कहता है। इस दृष्टि का अभिन्न हिस्सा गोदी मीडिया के प्रिंसिपल हैं। इसीलिए पिछले साल अगस्त में सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर और भारतीय जनता पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय की उपस्थिति में इसे लॉन्च किया गया था।
साहेबान, कुल मिलाकर मेरा भारत-४८ छोड़ने का कोई इरादा नहीं है। ये सब अफवाहें हैं और अफवाहों का क्या? इन्हें रोका तो जा नहीं सकता। हमारे दुश्मन बे पर की उड़ाने में एक्सपर्ट हैं। कोई कुछ भी अफवाह पैâलाए लेकिन मैं भारत-४८ छोड़ कर कहीं और नहीं जा रही हूं। यानी कि आपकी प्रिय एंकर भारत-४८ पर रात ९ बजे ‘द लईका कयामत शो’, शाम ६ बजे शो ‘दहाड़’ और वीकेंड प्रोग्राम बेबाक को होस्ट करती रहेगी। जय गोदी!
(लेखक तीन दशकों से पत्रिकारिता में सक्रिय हैं और ११ पुस्तकों का लेखन-संपादन कर चुके वरिष्ठ व्यंग्यकार हैं।)

अन्य समाचार