" /> एमपी में रिश्वत दो, शराब बनाओ!

एमपी में रिश्वत दो, शराब बनाओ!

इंस्पेक्टर के सामने ही कांस्टेबल ने ली रिश्वत 
सिंगरौली में एक्साइज इंस्पेक्टर और कांस्टेबल घूस की एक्सरसाइज करते दिखे। ३ हजार की रिश्वत लेने के बाद अवैध देसी शराब बनाने की छूट दे दी। यह रिश्वत लेडी एक्साइज इंस्पेक्टर के इशारे पर कांस्टेबल ने ली। घूस लेते ही कांस्टेबल बोला कि अब चिंता की कोई बात नहीं, खूब दारू बना सकते हैं। इस रिश्वतखोरी का मामला सामने आने के बाद कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है। इंस्पेक्टर को मुख्यालय अटैच कर दिया गया है। वीडियो ५ माह पुराना है। यह पूरा मामला सिंगरौली जिले के सरई क्षेत्र का बताया जा रहा है। वीडियो में घूस देने वाली लड़की साफ कह रही है कि अभी घर में कोई नहीं है। मेरे पास केवल ३ हजार है। इस पर आबकारी निरीक्षक नीलिमा मार्काे पैसा कांस्टेबल को देने का इशारा करते हुए आगे बढ़ जाती है। इसी बीच कांस्टेबल रामनरेश साहू घूस की रकम जेब में डालते हुए लड़की के घर की तरफ बढ़ता है।पूरे मामले में शर्मनाक पहलू यह है कि आरक्षक गेट के पास खड़े मासूम बच्चे से कांस्टेबल ने और दारू बनाने को कहा। इससे साफ जाहिर है कि जिलेभर में आबकारी विभाग के संरक्षण में कच्ची और जहरीली शराब परोसी जा रही है।
मुरैना और उज्जैन में जहरीली शराब कांड के बाद प्रदेश के सभी जिलों में लगातार अभियान चलाया जा रहा था। सिंगरौली में आबकारी के अफसरों ने वसूली अभियान बना लिया है। वीडियो पांच महीने पुराना है लेकिन रविवार को वीडियो वायरल होने के बाद मामला सामने आया है।
कमिश्नर ने पूछा तो दोनों पर हुई कार्रवाई
बताया गया कि जब वायरल वीडियो की जानकारी रीवा संभागायुक्त ​अनिल सुचारी को लगी तो उन्होंने सिंगरौली कलेक्टर राजीव रंजन मीणा से पूरे मामले में रिपोर्ट मांगी। साथ ही आबकारी DEध् आरएन व्यास से सवाल जबाव किए। रात तक कलेक्टर के आदेश पर आबकारी कांस्टेबल रामनरेश साहू को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही आबकारी इंस्पेक्टर नीलिमा मार्काे को कार्यालय अटैच कर विभागीय जांच की जा रही है।
कांस्टेबल के भाई का खुला संरक्षण
सिंगरौली के जिला बनने के बाद १२ साल से आबकारी विभाग में आरएल साहू तैनाात हैं। कांस्टेबल रामनरेश साहू का ही भाई है। बताया जाता है कि एडीओ के शह पर ही रामनरेश वसूली करता है।