मुख्यपृष्ठनए समाचारजी-20 समिट की सुरक्षा करेंगी बुलेटप्रूफ कारें, सुरक्षाकर्मी ले रहे हैं प्रशिक्षण

जी-20 समिट की सुरक्षा करेंगी बुलेटप्रूफ कारें, सुरक्षाकर्मी ले रहे हैं प्रशिक्षण

8 सितंबर से शुरू हो रहा है जी-20 सम्मेलन, धरती से आकाश तक चाक-चौबंद की सुरक्षा

रमेश ठाकुर / नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन की सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर दिल्ली पुलिस आयुक्त सहित खुफिया एजेंसियां और तमाम केंद्रीय एजेंसियों के प्रमुखों संग अंतिम बैठक अपने आवास पर की। आठ सितंबर से समिट का शुभारंभ होगा। विदेशी मेहमानों की सुरक्षा चाक-चौबंद हो, किसी भी तरह की चूक की संभावना न रहे, को लेकर केंद्र सरकार गंभीर है। अगले एक सप्ताह तक खुफिया एजेंसियों के साथ एनएसए अजित डोभाल सुरक्षा बंदोबस्त को लेकर एक्सरसाइज करते रहेंगे। केंद्र सरकार ने जर्मनी से करीब दो दर्जन बुलेटप्रूफ अति-सुरक्षित आधुनिक तकनीकों वाली गाड़ियों का भी किराये पर मंगवाई है। ये गाड़ियां विदेशी मेहमानों को लाने-ले जाने का काम करेंगी। समिट के दौरान दिल्ली में धरती से लेकर आकाश तक सुरक्षा एजेंसियों का सख्त पहरा रहेगा।
केंद्र सरकार ने सख्त सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यूटी कैडर के 10 अधिकारी जो अन्य राज्यों में सेवाएं दे रहे हैं, उन्हें दिल्ली बुला लिया है। उन्हें सुरक्षा की कमान सौंपी गई है। अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रमुखों व राष्टृध्यक्षों के ठहराने वाले सभी 16 पांच सितारों होटलों की सुरक्षा अभी से कड़ी कर दी है। दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा ने ‘दोपहार का सामना’ से विशेष बात करते हुए कहा कि शिखर सम्मेलन की सुरक्षा को लेकर उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक हुई है। प्रधानमंत्री ने उन्हें निर्देशित किया है कि जी-20 समिट के दौरान दिल्ली की सुरक्षा में परिंदा भी पर ना मार पाए। पुलिस आयुक्त ने बताया कि सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर दिल्ली के सभी पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है।

अन्य समाचार

लालमलाल!