मुख्यपृष्ठअपराधगड़े मुर्दे : प्रेम-प्रसंग में सिर धड़ से अलग, कुत्ते ने खोला...

गड़े मुर्दे : प्रेम-प्रसंग में सिर धड़ से अलग, कुत्ते ने खोला हत्या का राज!

जय सिंह

२५ अगस्त की शाम एक कुत्ता अपने मुंह में युवक का कटा सिर लेकर राजस्थान की राजधानी जयपुर से सटे कानोता थाने के इलाके में घूम रहा था। कुत्ते के मुंह में युवक का कटा सिर देखकर इलाके में हड़कंप मच गया। पुलिस को सूचना दी गई और आनन-फानन में पहुंची पुलिस ने छानबीन शुरू की। मृतक की पहचान लसाड़िया गांव के रहने वाले विष्णु बैरवा (२१) पुत्र रामेश्वर बैरवा के रूप में हुई।
मृतक के भाई राजेश बैरवा ने कपड़ों से युवक की पहचान की। पुलिस की पहली जांच में लोगों ने प्रेम-प्रसंग में हुई हत्या माना। परिजनों ने बताया कि युवक को हत्या से पहले आरोपियों ने उसे घर बुलाकर डीजे लगाकर शराब पार्टी की। शराब और डीजे पार्टी के दौरान बहस हुई थी, चीखने-चिल्लाने की आवाजें बाहर नहीं जाएं, इसलिए डीजे की आवाज तेज कर दी थी। इसके बाद बदमाशों ने बेरहमी से विष्णु का सिर काट डाला। टांगें और हाथ भी काटकर अलग कर दिए।
सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने इलाके में सर्च किया। इस दौरान एक बंद पड़े घर से बदबू आ रही थी। पुलिस ने जब वहां तलाशी ली तो दो टुकड़ों में शव मिला। पुलिस ने इलाके में गुमशुदा हुए व्यक्ति के परिजनों को सूचना देकर मौके पर बुलवाया। इसके बाद मृतक युवक की शिनाख्त हुई। मृतक के भाई राजेश बैरवा ने बताया कि १७ अगस्त को करीब १ बजे उसके छोटे भाई विष्णु को दो युवक दोपहर में बाइक पर बैठाकर ले गए थे, तब से ही विष्णु से कोई संपर्क नहीं हो पाया। परिजनों ने गुरुवार को कानोता थाने में मृतक विष्णु की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। शुक्रवार शाम को युवक का दो टुकड़ों में शव मिला।
डीसीपी ज्ञानचंद यादव की टीम मामले की जांच कर रही है। इस हत्या के पीछे कई वजह सामने आ रही है। कई लोग इसे लव एंगल के चलते सुनियोजित मर्डर बता रहे है, वहीं कुछ लोग पैसों के लेन-देन को लेकर हुआ विवाद बता रहे हैं। युवक की सनसनीखेज हत्या के बाद रामसर पालावाला गांव के लोग सहमे हुए हैं। जिस जगह पर हत्या की वारदात हुई, वह घर सूना पड़ा है। वहां के ग्रामीणों से पूछताछ में पता चला कि ये मकान पालावाला गांव के किशोर (५०) का है। वह अपने भाई लीला उर्फ विक्की (४०) के साथ रहता है। इनकी दो बहनें भी साथ ही रहती हैं। दोनों की शादी हो चुकी है, लेकिन ससुराल को छोड़ कर यहीं पर रहती हैं। एक बहन के पति की मौत भी हो चुकी है। पूरा परिवार १७ अगस्त को हत्याकांड के बाद से ही फरार हो गया था।
कानोता थानाधिकारी भगवान सहाय मीणा विष्णु बैरवा हत्याकांड की जांच कर रहे हैं। पुलिस इस मामले की तह तक जाने की कोशिश में जुटी है। पुलिस ने दो मुख्य आरोपियों सहित ५ संदिग्धों को पकड़ा है। हत्या के बाद आरोपी हरियाणा के नारनौल भाग गए थे, जहां पर ये साफ-सफाई का काम करते थे। वहां पहुंच कर पुलिस ने जांच- पड़ताल की है।

अन्य समाचार