मुख्यपृष्ठस्तंभगड़े मुर्दे : प्यार में कभी-कभी ऐसा हो जाता है!

गड़े मुर्दे : प्यार में कभी-कभी ऐसा हो जाता है!

जय सिंह

कहते हैं प्यार अंधा होता है, लेकिन सच यह भी है कि प्यार करने वाले कभी डरते नहीं। …यह सब जुमले या कहावतें तब तक अच्छी लगती हैं, जब तक कोई पकड़ा न जाए। अक्सर घर से छुपकर किया गया प्रेम-प्रसंग कभी-कभी उस मोड़ पर लाकर खड़ा कर देता है कि इंसान को यह समझ ही नहीं आता है की आखिर किया क्या जाए और उसी चक्कर में वह गलत काम कर बैठता है।
मुंबई के उपनगर गोरेगांव के आरे कॉलोनी पुलिस थाने में दर्ज एक मामला ऐसा भी है। प्रेमी युगल जोड़े ने अपने-अपने घर वालों से अपने प्रेम की कहानी छुपाने के लिए ऐसा झूठ बोला और बाद में उस प्रेमी युगल जो़ड़े ने पुलिस को गुमराह किया लेकिन उनकी हरकत भारी पड़ गई। कांदिवली की रहने वाली आरती (बदला हुआ नाम) अपने बॉयफ्रेंड के साथ गोरेगांव के आरे कॉलोनी में पिकनिक मनाने आई थी। पप्पी लव में यह जोड़ा इतनी बुरी तरह खो गया कि कब रात हुई इन्हें पता ही नहीं चला। देर रात होने पर आरती को यह डर सताने लगा कि आखिर घर जाकर क्या बोलेंगे। इसी कशमकश में प्रेमी जोड़ा घर जाने के लिए रिक्शा पकड़ा तो रिक्शा भी खराब हो गया। जैसे-जैसे लेट होता गया उनका डर और गहराता गया। इसके बाद शैतानी दिमाग ने एक कहानी बनाई कि वह कहानी पुलिस के पास पहुंचानी पड़ी। आरती ने पुलिस से कहा कि वह अपने मित्र के साथ आरे कॉलोनी में पिकनिक के लिए गई थी तो रात को लौटते वक्त २ लोगोें ने अपने आपको पुलिस बताकर पहले उनको रुकाया फिर उनके पास से नकदी और मोबाइल लूट लिया। आरे पुलिस स्टेशन में तैनात सावंत नामक अधिकारी ने प्रेमी युगल के साथ हुए लूट का मामला दर्ज कर लिया। इस मामले को लेकर पुलिस के तोते उड़े हुए थे। दरअसल, आरे कॉलोनी एक पिकनिक स्पॉट है। यहां छोटा कश्मीर, झील, गार्डन जैसे कई जगह पर मुंबई के लोगों के अलावा बाहरी लोग भी पिकनिक मनाने आते हैं। इस जगह पर कोई गिरोह अगर इस तरह से लूटपाट कर रहा है तो आगे बड़े अपराध होने से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। दूसरे दिन पुलिस के बड़े अधिकारियों ने उस जो़ड़े को फिर बुलाया और उनका बयान दर्ज किया तो पहले दिन बयान और दूसरे दिन के बयान में काफी अंतर पाया गया। इसके बाद असली मामला उजागर हुआ कि वो लूट का नहीं, बल्कि प्रेम में डर का मामला था। कॉल सेंटर में काम करने वाली लड़की अपने प्रेमी के साथ आरे कॉलोनी में पिकनिक के लिए आई थी। देर रात होने पर जिस ऑटोरिक्शा से वो घर जा रहे थे, वो भी खराब हो गया। घर पहुंचने में देर हो जाएगी तो घर पर क्या जवाब देंगे, यह सोचकर उन्होंने अपने लूट की झूठी योजना बनाई और पुलिस में मामला दर्ज करवाया। अब जब पुलिस को सही बात का पता चल गया तो उनकी जान मुश्किल में पड़ गई। इस मामले में एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि हमने अपने ऊपर के अधिकारियोें को मामले की जानकारी दी है। ऊपर के अधिकारी भी इस प्रसंग को प्रेम-प्रसंग की नजर से देख रहे थे, लेकिन युवक और युवती को काटो तो खून नहीं वाली स्थिति थी।

अन्य समाचार