मुख्यपृष्ठनए समाचारएलएमजी खाली कर कीमा ने निकाला था पाकिस्तानियों का ‘कीमा'! ...बचाई थी...

एलएमजी खाली कर कीमा ने निकाला था पाकिस्तानियों का ‘कीमा’! …बचाई थी दर्जनों सैनिकों की जान

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
बॉर्डर पर पाकिस्तानी रेंजर्स की गोलीबारी में शहीद हुए सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के हेड कांस्टेबल लाल फाम कीमा को हमेशा याद रखा जाएगा। हिंदुस्थान का यह बेटा अपनी बहादुरी के कारण न केवल देश के बल्कि हर हिंदुस्तानी के दिलों पर राज करेगा। बताया जाता है कि एक बार जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के करीब एक आतंकवादी रोधी अभियान के दौरान कीमा ने अपने दर्जनों साथियों की जान बचाई थी। सूत्रों के अनुसार, जम्मू-कश्मीर में साल १९९८ की सर्दियों में एक अभियान के दौरान गूल गांव में मिट्टी के घर के अंदर छिपे एक आतंकवादी को मार गिराने के लिए कीमा ने अपनी लाइट मशीन गन (एलएमजी) खाली कर दी थी और जोर-जोर से चिल्लाकर कहा था कि ‘तुम साला पिन निकालेगा।’ आतंकी मिट्टी के एक घर के अंदर छिपे हुए थे और सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ के बाद उन्होंने फिदायिन हमला कर खुद को उड़ा लिया, ताकि आसपास मौजूद बीएसएफ जवानों को भी मारा जा सके। जम्मू के रामगढ़ सेक्टर में पाकिस्तानी रेंजर्स की बिना उकसावे वाली गोली-बारी में कीमा (५०) गुरुवार को शहीद हो गए थे।

अन्य समाचार