मुख्यपृष्ठसमाचारठेका पद्धति के मजदूरों को तुरंत काम पर बुलाओे! शिवसेना की...

ठेका पद्धति के मजदूरों को तुरंत काम पर बुलाओे! शिवसेना की चेतावनी

सामना संवाददाता / मुंबई
`लार्सन एंड टुब्रो’ में कार्यरत ठेका श्रमिकों को कंपनी ने निकाल दिया है। इसे लेकर शिवसेना ने आवाज मुखर की है। भारतीय कामगार सेना के महासचिव व शिवसेना उपनेता डॉ. रघुनाथ कुचिक ने चेताया है कि ठेका श्रमिकों को फिर से काम पर वापस नहीं लिया गया तो तीव्र आंदोलन छेड़ा जाएगा। शिवसेना उपनेता ने शुक्रवार को एल एंड टी के तालेगांव, दाभाडे में ठेका श्रमिकों के न्याय अधिकारों को लेकर अपर श्रम आयुक्त के साथ द्विपक्षीय बैठक की। उन्होंने ठेका कर्मियों को उनके पूर्व कार्यस्थल पर पुन: प्रतिनियुक्त करने की मांग की। उन्होंने बताया कि पिछले १० महीने से ठेके पर काम करनेवाले श्रमिकों को घर बैठा दिया गया है। कंपनी में पिछले ५ वर्ष या उससे अधिक समय तक वंâपनी में वे कार्यरत थे। उनकी जगह नई भर्ती की गई है। बैठक के बाद श्रमिकों को संबोधित करते हुए रघुनाथ कुचिक ने कहा कि यदि मांग पर गौर नहीं किया गया तो आंदोलन मजदूरों के मुद्दों के लिए लड़ाई का एक अनिवार्य हिस्सा है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के मुद्दों पर लड़ना, कंपनी प्रबंधन की गलत नीतियों के खिलाफ आवाज उठाना हमारा अधिकार है।
इस अवसर पर निलेश लंगोटे, अनिल जगताप, एल एंड टी कंपनी के स्थानीय प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में कामगार उपस्थित थे।

अन्य समाचार