मुख्यपृष्ठनए समाचारएनसीसी छात्रों की पिटाई का मामला : दर्ज हुई केवल एनसी! ...छात्रों...

एनसीसी छात्रों की पिटाई का मामला : दर्ज हुई केवल एनसी! …छात्रों को पीटनेवाला हुआ निलंबित

सामना संवाददाता / ठाणे
ठाणे के जोशी-बेडेकर और बी.एन. बांंडोडकर कॉलेज में एनसीसी छात्रों की अमानवीय पिटाई के मामले में पुलिस शिकायत के बाद आरोपी के खिलाफ एनसी दर्ज की गई है। छात्रों की पिटाई करनेवाला भांडुप के एक कॉलेज का छात्र है, जो एनसीसी ट्रेनिंग देने ठाणे आता था। फिलहाल उसे निलंबित कर दिया गया है। इस मामले में पुलिस ने छात्रों, शिक्षकों, प्रिंसिपल और घटना को फिल्मान वाले छात्र से पूछताछ शुरू कर दी है। इस अमानवीय घटना का व्यापक रूप से राजनीतिक असर भी हुआ है।
बता दें कि ठाणे शहर के जोशी बेडेकर और बी. एन. बांंडोडकर कॉलेज में पिछले ४० वर्षों से एनसीसी की ट्रेनिंग दी जाती है। इस ट्रेनिंग के दौरान छात्रों को प्री-मिलिट्री ट्रेनिंग का पाठ पढ़ाया जाता है। यदि विद्यार्थियों की ओर से कोई गलती होती है तो उन्हें दंडित भी किया जाता है। लेकिन इन छात्रों को अमानवीय सजा देने के संबंध में एक चौंकानेवाला वीडियो सामने आया है। पिटाई का वीडियो २६ जुलाई का है। वीडियो बांंडोडकर कॉलेज परिसर का है, जहां बारिश के पानी और कीचड़ में छात्रों की अमानवीय ढंग से पिटाई की जा रही है। वीडियो में एनसीसी के आठ-नौ छात्रों ने अपना सिर जमीन पर रखा हुआ है। वीडियो में दिख रहा है कि एक छात्र इन छात्रों की कमर के निचले हिस्से पर लकड़ी के डंडे से बेरहमी से पिटाई कर रहा है। वीडियो के वायरल होने के बाद अभिभावकों में तीव्र नाराजगी व्याप्त है।
मामले का दिखा राजनीतिक असर
इस घटना को लेकर शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे), युवासेना, कांग्रेस समेत विभिन्न पार्टियों ने कॉलेज के बाहर और भीतर विरोध प्रदर्शन किया। जिसके बाद कॉलेज में कड़ी पुलिस सुरक्षा तैनात की गई है। इसे लेकर कॉलेज में छात्रों के बीच थोड़ा तनावपूर्ण माहौल देखने को मिला। रोज की तुलना में कॉलेज परिसर में सन्नाटा छाया रहा।

युवासेना की मांग के बाद मुंबई यूनिवर्सिटी ने गठित की समिति
ठाणे के जोशी-बेडेकर, बांंडोडकर कॉलेज में सजा के नाम पर एनसीसी छात्रों की अमानवीय पिटाई को मुंबई यूनिवर्सिटी ने गंभीरता से लिया है। युवासेना (शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के पूर्व सीनेट सदस्यों की शिकायत के बाद कुलपति डॉ. रवींद्र कुलकर्णी ने पिटाई की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है। चेतना कॉलेज के प्राचार्य महेश जोशी इस समिति के अध्यक्ष हैं, जबकि डहाणूकर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. ज्ञानेश्वर डोके, जे. वाटुमल साधुबेला कॉलेज के प्राचार्य डॉ. वसंत माली इस समिति के सदस्य हैं। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए यूनिवर्सिटी ने सदस्यों को तुरंत मामले की जांच करने के निर्देश जारी किए हैं। उक्त कमेटी को रिपोर्ट तुरंत कुलसचिव प्रो. सुनील भिरूड के समक्ष पेश करना है। युवासेना के पूर्व सीनेट सदस्य प्रदीप सावंत, शशिकांत झोरे, राजन कोलंबेकर, शीतल देवरुखकर-शेठ ने कुलपति डॉ. रवींद्र कुलकर्णी से मुलाकात कर कड़ी कार्रवाई की मांग की। युवासेना के कार्यकारिणी सदस्य अंकित प्रभु, पवन जाधव, सिद्धेश धाऊस्कर, पूर्व सीनेट सदस्य प्रदीप सावंत, राजन कोलंबेकर, शशिकांत झोरे, मिलिद साटम, डॉ. सुप्रिया करंडे, शीतल शेठ देवरुखकर, स्थानीय युवासेना पदाधिकारी किरण जाधव, जयदीप जाधव, सौरभ निकम, आरती खले, पूजा भोसले, राज वर्मा, आकाश कदम, रितेश देशमुख, रूपेश जाधव, शार्दुल म्हाडगुत, चेतन थोरात ने ठाणे नगर पुलिस थाने में जाकर परिमंडल एक के पुलिस उपायुक्त गणेश गावडे से मुलाकात कर इस मामले में दोषियों के खिलाफ मामला दर्ज कर सख्त कार्रवाई करने की मांग की।

क्या कहते हैं ठाणे पुलिस उपायुक्त?
युवासेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के पदाधिकारियों ने डिप्टी कमिश्नर गणेश गावडे से मुलाकात कर केस दर्ज करने की मांग की, जिसके बाद पीटनेवाले के खिलाफ एनसी दर्ज की गई है। ठाणे पुलिस उपायुक्त गणेश गावडे ने कहा कि वीडियो की तकनीकी जांच करने के बाद अन्य छात्रों से पूछताछ की जा रही है। अभी तक केवल एनसी दर्ज की गई है। जांच के बाद आरोपी पर सख्त कार्रवाई होगी।

अन्य समाचार