मुख्यपृष्ठटॉप समाचारचंद्रविजय! ...चांद पर लैंड होते ही चंद्रयान बोला, ‘मैं अपनी मंजिल तक...

चंद्रविजय! …चांद पर लैंड होते ही चंद्रयान बोला, ‘मैं अपनी मंजिल तक पहुंच गया हूं और आप भी!’

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
अंतरिक्ष में उड़ान के लिहाज से कल यानी बुधवार (२३ अगस्त) का दिन हिंदुस्थान के लिए बहुत ही खास रहा। ‘भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन’ (इसरो) ने अपने चंद्रयान मिशन-३ को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतारकर ऐतिहासिक सफलता हासिल की। गौरवान्वित करने वाले उक्त बहुप्रतीक्षित क्षण का पूरा देश साक्षी बना। चांद पर लैंड करते ही चंद्रयान-३ का पहला मैसेज आया है। ‘भारत, मैं अपनी मंजिल पर पहुंच गया और तुम्हें भी!’
भारत के महत्वाकांक्षी मून मिशन के तहत इसरो का चंद्रयान-३ कल शाम ०६:०४ बजे चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सफलतापूर्वक लैंड हुआ। हर भारतीय इस ऐतिहासिक क्षण का बे‍सब्री से इंतजार कर रहा था। भारत के लिए ये बहुत बड़ी उपलब्धि है, क्‍योंकि चांद के साउथ पोल पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला हिंदुस्थान पहला देश बन गया है। इस तरह से अंतरिक्ष में सफलता की दिशा में बड़ी छलांग लगाते हुए इसरो ने चांद के उस हिस्से पर राष्ट्रध्वज तिरंगा लहरा दिया, जहां आज तक कोई अन्य देश नहीं पहुंच सका है। चंद्रमा पर लैंड करते ही चंद्रयान-३ ने अपना पहला मैसेज भेजा, ‘भारत, मैं अपनी मंजिल पर पहुंच गया और आप भी!’ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों ने चंद्रयान-३ को चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतारकर अंतरिक्ष की दुनिया में इतिहास रच दिया।
पूरा देश कर रहा था प्रार्थना
गौरतलब हो कि मून मिशन के तहत चंद्रयान-२ की ६ सितंबर २०१९ को असफलता से पूरा देश मायूस हुआ था लेकिन इसरो के वैज्ञानिकों ने हिम्मत नहीं हारी और उन्होंने कुछ ही वर्षों में चंद्रयान-३ को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचा दिया।

चंद्रयान-३ की सफल लैंडिंग के लिए दो दिन पहले से देश में प्रार्थनाओं का दौर शुरू हो गया था। खासकर कल सुबह से लोग अपने-अपने धर्मस्थलों में पूजा, प्रार्थना और इबादत करते देखे गए। लोगों की दुआएं रंग लार्इं। देश ने धरती पर सपना देखा और चांद पर साकार किया।
रूस के मिशन की नाकामी से बढ़ी टेंशन
गौरतलब हो कि कुछ ही दिन पहले रूस ने चांद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने की कोशिश की थी, लेकिन उसका लूना-२५ अंतरिक्ष यान चांद की सतह से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। ऐसे में भारत के चंद्रयान-३ मिशन की अहमियत और बढ़ गई थी। पूरी दुनिया की नजर इस मिशन पर थी। चंद्रयान-३ की सफलता के लिए देश के कोने-कोने में आज सुबह से पूजा, प्रार्थना और इबादत का दौर शुरू हो गया था।

अभिमान का क्षण-शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे
संपूर्ण देश के लिए यह अभिमान का क्षण है, ऐसे गौरवपूर्ण उद्गार शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने व्यक्त किए। हिंदुस्थान ने चंद्रमा पर कदम रखकर आज इतिहास रच दिया है। विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्र में अथक परिश्रम कर शोध करने वाले वैज्ञानिकों की यह सफलता है, ऐसा उद्धव ठाकरे ने कहा। उन्होंने कहा कि इसरो के वैज्ञानिकों ने ऐतिहासिक काम किया है। इस संदर्भ में उनका अभिनंदन जितना करें, उतना कम है। संपूर्ण देश के लिए यह अभिमान का क्षण है। ऐसे शब्दों में उद्धव ठाकरे ने अभियान सफल करने वाले वैज्ञानिकों का अभिनंदन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दक्षिण अफ्रीका से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए कल कहा कि आज सफलता की अमृत वर्षा हुई है। -मोदी

अन्य समाचार