मुख्यपृष्ठनए समाचारचंद्रयान-3 की चांद पर सफल लैंडिंग, दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाला पहला...

चंद्रयान-3 की चांद पर सफल लैंडिंग, दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाला पहला देश बना

सामना संवाददाता / बेंगलुरु

हिंदुस्थान ने आज इतिहास रच दिया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के महत्वाकांक्षी तीसरे चंद्र अभियान चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर ने बुधवार शाम को चंद्रमा की सतह पर सफलतापूर्वक लांडिंग कर लिया। हिंदुस्थान की यह उपलब्धि हासिल करने वाला चौथा देश और धरती के एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचनेवाला पहला देश बन गया है, जो अब तक अनछुआ था।

इस अभियान के तहत यान ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र पर सफल ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ की, जहां अभी तक कोई देश नहीं पहुंच पाया था। चंद्र सतह पर अमेरिका, पूर्व सोवियत संघ और चीन ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ कर चुके हैं, लेकिन उनकी ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र पर नहीं हुई थी।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का 600 करोड़ रुपए का चंद्रयान-3 मिशन चांद पर लैंडर को उतारने का चार साल में अंतरिक्ष एजेंसी का यह दूसरा प्रयास था। अब अमेरिका, चीन और पूर्व सोवियत संघ के बाद हिंदुस्थान चंद्र सतह पर ‘सॉफ्ट-लैंडिंग’ की तकनीक में महारत हासिल करने वाला चौथा देश बन गया है।

अन्य समाचार