मुख्यपृष्ठनए समाचारछगन भुजबल ने फर्नांडिस की मुंबई की जमीन हड़प कर बनाया बंगला,...

छगन भुजबल ने फर्नांडिस की मुंबई की जमीन हड़प कर बनाया बंगला, अंजलि दमानिया ने लगाया गंभीर आरोप

सामना संवादाता / मुंबई
शिंदे-फडणवीस सरकार में मंत्री छगन भुजबल द्वारा फर्नांडिस परिवार की सांताव्रूâज स्थित जमीन हड़पकर बंगला बनाने का सनसनीखेज आरोप सामाजिक कार्यकर्ता अंजली दमानिया ने कल लगाया। फर्नांडिस परिवार में से डॉरिन फर्नांडिस के तीनों बच्चे प्रâांस, सेवियो और नोबेल मतिमंद हैं। वर्तमान में वह बांद्रा में रहती हैं। समीर भुजबल इस परिवार को इस जगह के बदले साढ़े आठ करोड़ रुपए देनेवाले थे। हालांकि, अभी भी भुजबल ने उन्हें वह पैसे नहीं दिए हैं। उनके साथ धोखाधड़ी की गई है। इस तरह का आरोप भी अंजलि दमानिया ने लगाया।
मंत्री छगन भुजबल ने ओबीसी आरक्षण को लेकर सरकार को चेतावनी दी और मनोज जरांगे-पाटील की आलोचना की। इसके विरोध में अंजली दमानिया ने प्रेस कॉन्प्रâेंस किया। दमानिया प्रेस कॉन्प्रâेंस में फर्नांडिस परिवार को सामने लार्इं। अंजलि दमानिया ने इस संबंध में राकांपा नेता व सांसद सुप्रिया सुले से भी चर्चा करने की बात कही। सुप्रिया सुले ने व्हॉट्सऐप ग्रुप बनाकर समीर भुजबल और फर्नांडिस परिवार के बीच समन्वय साधने की कोशिश की। उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी इस संबंध में फॉलो अप किया, लेकिन अभी बच्चों को अपनी उनकी मालिकाना जगह के लिए लड़ना पड़ रहा है। अंजली दमानिया ने चेतावनी दी है कि जालना की सभा में जरांगे-पाटील की आलोचना करनेवाले छगन भुजबल ४८ घंटे के भीतर फर्नांडिस परिवार को उनके पैसे दे दें, अन्यथा वे परिवार को न्याय दिलाने के लिए सोमवार से सांताक्रूज स्थित छगन भुजबल के निजी आवास के सामने खड़ी हो जाएंगी।
पुलिस ने हिरासत में लिया
छगन भुजबल के घर के सामने प्रेस कॉन्प्रâेंस के लिए दमानिया निकली ही थीं कि उसी समय पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। इस बार पुलिस की गाड़ी में बैठने का उन्होंने विरोध किया। उन्हें जुहू पुलिस स्टेशन ले जाया गया और कुछ देर बाद छोड़ दिया गया। इसके बाद उन्होंने घर पर प्रेस कॉन्प्रेंâस आयोजित की।
४८ घंटे के भीतर न्याय मिले
-सुप्रिया सुले
पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का मैंने भी प्रयास किया है। इसलिए अगले ४८ घंटे में पीड़ित परिवार को न्याय मिलना चाहिए। सुप्रिया सुले ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इसमें कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए।

अन्य समाचार