मुख्यपृष्ठसमाचारनि:संतान महिलाओं को चाहिए टेस्ट ट्यूब बेबी से संतान! अध्ययन में हुआ...

नि:संतान महिलाओं को चाहिए टेस्ट ट्यूब बेबी से संतान! अध्ययन में हुआ खुलासा

  • इन्फर्टिलिटी से पीड़ित हो रहे हैं कपल्स

सामना संवाददाता / मुंबई
संतान पाना हर एक शादीशुदा जोड़े की चाहत होती है। परंतु महिला और पुरुष दोनों में से किसी एक व्यक्ति में एसटीडी, पीसीओडी, काम का तनाव, खाने-पीने की गलत आदतें, नियमित व्यायाम की कमी, मोटापा आदि कारणों से वे माता-पिता कहलाने का सुख नहीं प्राप्त कर पाते हैं। ऐसे में संतान की चाहत में नि:संतान महिलाएं टेस्ट ट्यूब बेबी का सहारा लेने के लिए अधिक अग्रसर हो रही हैं। इन्फर्टीलिटी से पीड़ित कपल्स आईवीएफ का विकल्प चुन रहे हैं। खास बात यह है कि इस विकल्प को चुननेवालों में सबसे अधिक ७० फीसदी कपल्स २५ से ३५ वर्ष के हैं।
प्रिस्टाइन केयर ने आईवीएफ पर एक अध्ययन के परिणाम जारी किए हैं। यह अध्ययन एनसीआर, मुंबई, कोलकाता, बंगलुरु, पुणे, हैदराबाद और चेन्नई में किया गया, जहां २,००० से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया। अध्ययन में पाया गया कि ७८ फीसदी कपल्स अपनी इन्र्फिटलिटी और प्रेग्नेंसी के वैकल्पिक तरीकों के बारे में अपने परिवार और दोस्तों के साथ बातचीत करने में सहज महसूस करते हैं। अध्ययन के मुताबिक ५८ फीसदी उत्तरदाताओं का मानना है कि आईवीएफ का फैसला  मुख्य रूप से महिलाएं ही लेती हैं। आईवीएफ उपचार का फैसला  लेनेवाले ७० फीसदी उत्तरदाता २५-३५ वर्ष के थे, जिन्होंने किसी एक पार्टनर में इन्र्फिटलिटी की वजह से यह फैसला  लिया।

 

 

अन्य समाचार

ऊप्स!