मुख्यपृष्ठसमाचारप्रार्थना के नाम पर बच्चे पढ़ रहे `कलमा' ! अभिभावक की शिकायत...

प्रार्थना के नाम पर बच्चे पढ़ रहे `कलमा’ ! अभिभावक की शिकायत पर मचा हंगामा

  • पुलिस ने दर्ज किया धर्मांतरण व धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में केस दर्ज

विक्रम सिंह / कानपुर

धर्म और हिंदुत्व का ढिंढोरा पीटनेवाले योगी राज में नित नए खुलासे हो रहे हैं। ऐसा ही वाकया कानपुर महानगर के एक स्कूल  में सामने आया। जहां पर वर्षों से प्रार्थना के नाम पर बच्चों को `कलमा’ (इस्लामी आयत) पढ़ाया जा रहा था। फिलहाल एक अभिभावक ने जब इसका वीडियो वायरल कर शिकायत की तब मामला खुलकर सामने आ गया। स्वूâल के सामने बड़ी संख्या में अभिभावकों का झुंड हिंदूवादी संगठनों के साथ आ डटा। आखिरकार पुलिस ने विभिन्न गंभीर धाराओं में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ सोमवार की देर शाम केस दर्ज कर लिया है।
बता दें कि कानपुर के सीसामऊ स्थित फ्लोरेट्स इंटरनेशनल स्कूल  से जुड़ा हुआ यह मामला है। यहां प्रार्थना के दौरान बच्चों को कलमा पढ़ाए जाने की शिकायत रविवार को एक अभिभावक अभिषेक मिश्रा ने वीडियो ट्वीट के जरिए की थी। जिसमें अभिभावक आरोप लगा रहे थे कि स्कूल में बच्चों को कलमा पढ़ाया जाता है। इस ट्वीट के वायरल होते ही अगले दिन सुबह बड़ी संख्या में लोग पार्षद महेंद्र पांडेय की अगुवाई में स्कूल पहुंच गए, जिनमें कई अभिभावक भी थे।
धरना-प्रदर्शन शुरू हो गया
बवाल बढ़ा तो एडीएम सिटी अतुल कुमार और सीसामऊ के एसीपी निशंक शर्मा भी  मौके की नजाकत भांप मौके पर आ डटे और अभिभावकों, प्रिंसिपल व बच्चों से संवाद करना शुरू किया। पाठ्यक्रम में अंकित प्रार्थना भी देखी। अभिभावक अंकित गुप्ता ने बयान दिया कि उनकी बेटी यहां आठ साल से पढ़ रही है। शुरू से ही यहां कलमा पढ़ाया जा रहा है लेकिन इसका अर्थ कभी नहीं बताया गया। इस दौरान बजरंगदल और विश्व हिंदू परिषद के नेता भी आ गए। अंतत: चार अभिभावकों की ओर से तहरीर सीसामऊ कोतवाली में देर शाम को दी गई। जिसे इंस्पेक्टर सीसामऊ कैलाश चंद्र दुबे ने दर्ज कर लिया। उन्होंने बताया कि फ्लोरेट्स इंटरनेशनल स्कूल के प्रबंधक के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने और अवैध धर्म परिवर्तन पर रोक की धारा ५(१)  के तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई है। आगे विवेचना होगी, जिसके आधार पर एक्शन लिया जाएगा।

अन्य समाचार