मुख्यपृष्ठनए समाचारड्रैगन से डरे बाइडन! ...चीन ने कई अमेरिकी शहरों में खोल दिए...

ड्रैगन से डरे बाइडन! …चीन ने कई अमेरिकी शहरों में खोल दिए गुप्त पुलिस स्टेशन

• एफबीआई को नहीं लगी भनक
एजेंसी / न्यूयॉर्क
विश्व का लगभग हर देश ड्रैगन यानी चीन की हरकतों से परेशान है। अब उसने अमेरिका में ऐसी चाल चली है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन डर गए हैं। इतना ही नहीं दुनिया की सबसे बड़ी अमेरिकी खुफिया एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) भी चीन की चाल से चकमा खा गई है। दरअसल चीन ने अमेरिका के कई शहरों में गुप्त पुलिस स्टेशन खोल दिए हैं। हैरानी की बात यह है कि एफबीआई को इस बारे में पता ही नहीं चल पाया और अब जानकारी हुई तो एफबीआई के होश उड़ गए हैं कि भला यह वैâसे हो सकता है? विश्व की कई अन्य खुफिया एजेंसियों ने भी अमेरिका में चीनी खुफिया स्टेशन खोले जाने की पुष्टि की है। इससे जो बाइडन के खेमे में खलबली मच गई है। आखिर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग अमेरिका में ऐसा क्या करने वाले हैं, जिससे कि उन्होंने अपना सीक्रेट पुलिस स्टेशन अमेरिका में खोल दिया है।
अमेरिका में गुप्त चीनी पुलिस थानों की रिपोर्ट मिलने से एफबीआई निदेशक क्रिस्टोफर रे के भी होश उड़ गए हैं। उनका कहना है कि एफबीआई न्यूयॉर्क में ऐसे स्टेशनों की मौजूदगी की जांच कर रही है, जो संप्रभुता का उल्लंघन कर सकते हैं। उन्होंने कहा है कि संयुक्त राज्य अमेरिका चीनी सरकार द्वारा अमेरिकी शहरों में अनधिकृत `पुलिस स्टेशन’ स्थापित करने के बारे में बहुत चिंतित है। एफबीआई अब इस दिशा में संभावित ऑपरेशन चलाएगा।
एफबीआई को चीनी चुनौती
अमेरिका में गुप्त पुलिस स्टेशन खोलकर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सीधे तौर पर अमेरिका की एफबीआई और राष्ट्रपति जो बाइडन को चुनौती दे दी है। यह अमेरिका की सुरक्षा के लिए बहुत बड़ा खतरा भी है। सबसे ज्यादा हैरानी की बात तो यह है कि दुनिया में खुद को सबसे बड़ी खुफिया एजेंसी बताने वाली एफबीआई भी चीन की इस साजिश के सामने फेल हो गई। उसे इस बारे में पहले कुछ पता ही नहीं चला और अब जानकारी हुई तो उसके होश उड़ गए। इस बात का अंदाजा ऐसे भी लगाया जा सकता है कि क्रिस्टोफर रे कहते हैं `मैं इस बारे में बहुत चिंतित हूं।’ रे ने अमेरिकी सीनेट की मातृभूमि सुरक्षा और सरकारी मामलों की समिति की सुनवाई में कहा कि हम इन स्टेशनों के अस्तित्व के बारे में जानते हैं। उन्होंने इस मुद्दे पर एफबीआई के इन्वेस्टीगेशन वर्क को स्वीकार किया, लेकिन इस बारे में विवरण देने से इनकार कर दिया।

चीन ने किया संप्रभुता का उल्लंघन
क्रिस्टोफर रे कहते हैं कि मेरे लिए यह सोचना अपमानजनक है कि चीन न्यूयॉर्क में पुलिस शॉप स्थापित करने का प्रयास करेगा, वह भी बिना किसी समन्वय के। यह सरासर अमेरिका की संप्रभुता का उल्लंघन करता है और मानक न्यायिक व कानून प्रवर्तन सहयोग प्रक्रियाओं को दरकिनार करता है। रिपब्लिकन सीनेटर रिक स्टॉक ने पूछा कि क्या ऐसे चीनी स्टेशन अमेरिकी कानूनों का उल्लंघन करते हैं?..इस पर क्रिस्टोफर ने कहा कि एफबीआई कानूनी मापदंडों को देख रहा है।

कई देशों में गुप्त पुलिस स्टेशन
यूरोप स्थित मानवाधिकार संगठन सेफगार्ड डिफेंडर्स ने सितंबर में एक रिपोर्ट प्रकाशित की है, जिसमें न्यूयॉर्क सहित दुनिया भर के कई प्रमुख शहरों में दर्जनों चीनी पुलिस `सर्विस स्टेशनों’ की मौजूदगी का खुलासा किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ये स्टेशन कुछ चीनी नागरिकों या विदेश में उनके रिश्तेदारों पर आपराधिक आरोपों का सामना करने व चीन लौटने का दबाव बनाने के लिए बीजिंग के प्रयासों का विस्तार थे।

अन्य समाचार