मुख्यपृष्ठखबरेंकाशी में त्रिपुंड लगाए चुटियाधारी बटुकों ने मैदान में लगाए चौके-छक्के

काशी में त्रिपुंड लगाए चुटियाधारी बटुकों ने मैदान में लगाए चौके-छक्के

-चतुरधावनांकाः व षडधावनांका (चौका व छक्का) से गूंजायमान रहा मैदान

उमेश गुप्ता / वाराणसी

शुक्रवार को रामापुरा स्थित जयनारायण इंटर कॉलेज मैदान में धोती-कुर्ता और त्रिपुंड लगाए चुटियाधारी क्रिकेट खिलाड़ियों का मैच खेला गया। वर्ष में एक बार होनेवाले इस मैच का मुख्य आकर्षण संस्कृत में कमेंट्री रही। वेदपाठी बटुकों के मैच की खासियत यह रही कि इसमें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के नियमों का पालन किया गया। मैच को देखने संस्कृत विद्धान और बटुक भी आये थे।
मौका था संस्कृत भाषा व उसके संवर्धन हेतु प्रयत्नशील दशाश्वमेध स्थित शास्त्रार्थ महाविद्यालय के 80वें स्थापना दिवस का। प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी वेदपाठी बटुकों ने संस्कृत क्रिकेट मैच खेल कर समाज को संदेश दिया कि शास्त्रों अलावा खेल में भी उनकी रूचि है। प्रातः मुख्य अतिथि शहर दक्षिणी के विधायक डॉ. नीलकंठ तिवारी ने बटुकों से संस्कृत में परिचय प्राप्त किया। इसके बाद कुछ गेंद बटुकों से डलवाई व स्वयं उनके साथ क्रिकेट खेल कर आयोजन का उद्घाटन किया। आरम्भ में संस्था के राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त पूर्व प्राचार्य व मैच के संयोजक डॉ.गणेश दत्त शास्त्री व संस्कृत विद्वान डॉ.विनोद राव पाठक ने मुख्य अतिथि को माल्यार्पण व अंगवस्त्र प्रदान कर अभिनंदन किया। इस मौके पर विधायक डॉ.नीलकंठ तिवारी ने कहाकि संस्कृत भाषा व छात्रों के उत्साहवर्धन के लिए इस प्रकार के आयोजन होते रहने चाहिए। ऐसे आयोजनों के जरिए बच्चों की प्रतिभा निखारने का अवसर मिलना चाहिए। संस्कृत में कमेंट्री व्याकरणशास्त्र के मूर्धन्य विद्वान डॉ. शेषनारायण मिश्र व पं. विकास दीक्षित ने किया। कार्यक्रम संयोजक व संस्था के प्राचार्य डॉ. पवन कुमार शुक्ला ने कहा कि यह आयोजन देश में अपने आप में अनोखा है। इसके कारण ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में इसकी प्रशंसा की थी। मैच के सारे नियम लगभग किसी अंतरराष्ट्रीय मैच के ही समान होते हैं।

अंपायर की भूमिका में पूर्व खिलाड़ी धीरज मिश्रा, संजीव तिवारी व अशोक पांडेय रहे। इस एक दिवसीय मैच में चार टीमों ने प्रतिभाग किया। इसमें श्रीशास्त्रार्थ महाविद्यालय, इंटरनेशनल चंद्रमौलि चैरिटेबल संस्कृत संस्थान, चल्ला शास्त्री वेद-वेदांग संस्कृत विद्यालय और महर्षि महेश योगी संस्थान रहे। संस्कृत के छात्रों ने मंगलाचरण व वेद मंत्रों का पाठ करते हुए मैदान में प्रवेश किया। तिलकधारी व लंबी-लंबी चुटियाधारी धोती-कुर्ता पहने हुए क्रिकेटरों को देख मैदान पर उपस्थित सभी दर्शक काफी रोमांचित हो उठे। खिलाड़ियों के चौकों-छक्कों पर जोरदार तालियां बजती रहीं। दर्शक खिलाड़ियों का रह-रहकर उत्साहवर्धन करते रहे। संस्कृत में चतुरधावनांकाः व षडधावनांका (चौका व छक्का) से पूरा मैदान गूंजायमान रहा। विशिष्ट अतिथि पार्षद विजय द्विवेदी व पूर्व चिकित्साधिकारी डॉ.सारनाथ पांडेय और जयनारायण इंटर कालेज के प्राचार्य वीरेंद्र श्रीवास्तव रहे। जिला विद्यालय निरीक्षक अवध किशोर सिंह भी खिलाड़ियों उत्साह बढ़ाने पहुंचे थे। कार्यक्रम डॉ. उमाशंकर त्रिपाठी, डॉ.आमोद दत्त शास्त्री, विनीत तिवारी, अमन द्विवेदी, बृजेश शुक्ल की देखरेख में सम्पन्न हुआ।

अन्य समाचार