मुख्यपृष्ठस्तंभसिटीजन रिपोर्टर: ड्रेनेज का डंक! ...माहिमकरों का मलाल

सिटीजन रिपोर्टर: ड्रेनेज का डंक! …माहिमकरों का मलाल

टूटे-फूटे और गिरने की स्थिति में हैं ढक्कन, सड़क पर होते हैं हादसे, जाम भी लगता है

मुंबई 

माहिम स्टेशन के बाहर स्थित तुलसी पाइप रोड पर कोजवे की तरफ सिग्नल के पास ही सड़क पर मौजूद ड्रेनेजलाइन का ढक्कन टूटा हुआ है, जिससे वाहन चालकों और पदयात्रियों को काफी तकलीफों का सामना करना पड रहा है। जब माहिम मच्छीमार कॉलोनी से स्टेशन की ओर बढ़ते हैं, तब मोरी रोड और सेनापति बापट रोड जंक्शन के सिग्नल पर यह नजारा देखने को मिलता है। सिर्फ एक नहीं बल्कि आस-पास के कुछ और ड्रेनेज के ढक्कन या तो टूटे-फूटे हैं या तो गिरने की स्थिति में हैं। `दोपहर का सामना’ की सिटीजन रिपोर्टर संध्या श्रीवास्तव के अनुसार, ठीक सिग्नल पर मौजूद इस टूटे ड्रेनेज के ढक्कन के कारण यहां जाम लग जाता है। बगल में फुटपाथ है, लेकिन उस फुटपाथ पर रेबिट और लकड़ी पड़ी होने की वजह से राहगीरों को भी मजबूरन नीचे से चलना पड़ता है, जिससे इस सड़क पर परेशानी और भी ज्यादा बढ़ जाती है। इसकी शिकायत जल्द ही स्थानीय प्रशासन से की जाने वाली है।
ज्ञात हो कि माहिम का मोरी रोड और सेनापति बापट रोड जंक्शन एक महत्वपूर्ण भाग है। यहां पर रोजाना हजारों की संख्या में गाड़ियों का आवागमन लगा रहता है। पश्चिम उपनगर से दादर, लोअर परेल और प्रभादेवी की और जाने वाले ज्यादातर लोग इसी रास्ते से होकर गुजरते हैं। यहां का रास्ता सुगम है इसलिए लोग इसका इस्तेमाल करते हैं। हालांकि, इस सड़क के किनारे स्थित ड्रेनेजलाइन के कई जगह के चेंबर्स के ढक्कन या तो जीर्ण अवस्था में हैं या फिर टूटे हुए हैं, जिससे अक्सर वाहन चालक अपना कंट्रोल खो बैठता है। बाइक सवार तो अक्सर अपना बैलेंस खो देते हैं। संध्या श्रीवास्तव ने प्रशासन से गुजारिश की है कि इस चेंबर के ढक्कन की मरम्मत की जाए, अन्यथा यहां भविष्य में कोई बड़ा हादसा हो सकता है। यहां फुटपाथ है, लेकिन उस पर भी लकड़ियां और अन्य सामान रखे होने की वजह से लोग फुटपाथ की बजाय सड़क पर चलने को मजबूर हो जाते हैं। ऐसे में कई बार उनके वाहनों से टकराने का भय बना रहता है। अत: प्रशासन से उन्होंने विनती की है कि जल्द से जल्द इसे ठीक किया जाए और सड़क को सुचारु किया जाए।

अन्य समाचार