मुख्यपृष्ठनए समाचारसिटीजन रिपोर्टर : अवैध पार्किंग से लोगों में नाराजगी

सिटीजन रिपोर्टर : अवैध पार्किंग से लोगों में नाराजगी

नागपाड़ा
दक्षिण मुंबई नागपाड़ा स्थित आर.एस. निमकर मार्ग पर अवैध रूप से पार्क किए गए दुपहिया वाहन को लेकर स्थानीय नागरिकों में भारी नाराजगी देखी जा रही है। ‘दोपहर का सामना’ के सिटीजन रिपोर्टर समीर कुरेशी ने इस समस्या को बयां किया है।
समीर कुरेशी ने बताया कि फारस रोड के जी.एन. मस्जिद के सामने १०० फीट का एक गैरेज है। इस गैरेज में मोटरसाइकिलों की रिपेयरिंग की जाती है। गैरेज के बाहर सड़क पर मीटर वाली टैक्सी के लिए ८ गाड़ियों को पार्क करने का बोर्ड लगाया गया है, लेकिन गैरेज के सामने अवैध रूप से पार्क की गई मोटरसाइकिलों के चलते टैक्सी ड्राइवर वहां अपनी टैक्सी नहीं खड़ी कर पाते हैं। जब वे अन्य जगहों पर अपनी टैक्सी खड़ी करते हैं तो वहां का दुकानदार इस बात को लेकर ऑब्जेक्शन करता है और उस टैक्सी वाले को वहां से भगा दिया जाता है।
ऐसे हालात में उसे जहां जगह मिलती है वह वहां अपनी गाड़ी खड़ी कर देता है। इसके चलते कभी-कभी ट्रैफिक जाम की समस्या भी उत्पन्न हो जाती है। इसके अलावा यहां अक्सर डबल पार्किंग  की भी समस्या रहती है। गैरेज के सामने अवैध रूप से पार्क की गई मोटरसाइकिल को लेकर जब पूछा गया कि क्या ट्रैफिक पुलिस इस पर कार्रवाई नहीं करती, इस पर बताया गया कि जब कोई इसकी शिकायत करता है तो ट्रैफिक पुलिस एक्टिव हो जाती है। पिछले दिनों किसी की शिकायत पर पुलिस ने चार मोटरसाइकिलों पर चार्ज मारकर खानापूर्ति कर ली थी। स्थानीय नागरिकों का कहना है कि गैरेज मालिक की पुलिस में अच्छी पकड़ है इसलिए लोग उसकी शिकायत करने से डरते हैं। अमूमन किसी की बाइक या मोटर की फोटो खींचकर रुआब दिखाने वाले पुलिसकर्मियों का कैमरा यहां क्यों नहीं काम करता। अगर कोई अपनी गाड़ी खड़ी कर किसी दुकान में सामान खरीदने जाता है या अपनी फैमिली के साथ होटल में खाना खाने जाता है और जब वह बाहर आता है तो वह अपना वाहन न देखकर परेशान हो जाता है। लोगों से पूछताछ करने पर उसे पता चलता है कि पुलिस की टोइंग गाड़ी उसके वाहन को उठाकर ले गई है। जहां से गाड़ी को उठाया जाता है वहां चॉक से लिखा रहता है कि फलां ट्रैफिक पुलिस चौकी से संपर्क करें।
गाड़ी मालिक अपने बच्चों को कहीं बिठाकर ढूंढते-ढूंढते किसी तरह ट्रैफिक पुलिस की चौकी पहुंचता है और जो नियम में बताया गया है उतना दंड भरकर अपनी गाड़ी वापस पाता है। दो-पांच मिनट गाड़ी खड़ी करने पर गाड़ी टोइंग करनेवाले तुरंत गाड़ी उठाकर ले जाते हैं, लेकिन यहां महीनों से अवैध रूप से पार्क की गई गाड़ियों पर उनकी नजर क्यों नहीं पड़ती। यहां कुछ वाहन ऐसे भी हैं, जो महीनों से यहां पड़े रहकर यहां की शोभा बढ़ा रहे हैं।

अन्य समाचार