मुख्यपृष्ठनए समाचारसिटीजन रिपोर्टर : कब हटेगी गंदगी, कब होगा `कल्याण'? ...चारों तरफ है...

सिटीजन रिपोर्टर : कब हटेगी गंदगी, कब होगा `कल्याण’? …चारों तरफ है कूड़ा ही कूड़ा

कल्याण रेलवे स्टेशन मध्य रेलवे का एक नामचीन, ऐतिहासिक स्टेशन माना जाता है। कल्याण स्टेशन प्रमुख रेलवे जंक्शन है। यहां से करीबन सौ से अधिक मेल, एक्सप्रेस, गाड़ियां तथा तीन-तीन मिनट पर, तेज गाड़ियां भी दौड़ती रहती हैं। स्टेशन के अंदर कुल आठ प्लेटफॉर्म हैं। प्रतिदिन लाखों लोगों का आवागमन होता है। पिछले दिनों कल्याण रेलवे स्टेशन को रेलवे द्वारा किए गए स्वच्छता सर्वेक्षण में निचले स्तर का क्रमांक मिला था। उसके बाद सफाई को निजी ठेकेदार को दे दिया गया। इसके बावजूद स्टेशन का बाहरी दायरा अभी भी गंदगी से भरा हुआ है। कल्याण रेलवे स्टेशन के बाहरी भाग को गंदगी से कब निजात होगा? ऐसा सवाल किया जा रहा है। इसकी जानकारी `दोपहर के सामना’ के सिटीजन रिपोर्टर अरुण तिवारी ने दी।
बता दें कि कल्याण रेलवे स्टेशन का पश्चिमी भाग गंदगी से भरा हुआ है। प्रत्यक्ष देखा जा सकता है कि कसारा की तरफ बनाया गया पादचारी पुल जो रुक्मिणी बाई अस्पताल की तरफ जाता है। वहां पर सब्जियों के छिलके रेलवे लाइन पर फेंके गए हैं। इसकी वजह से यहां से आने-जानेवाले लोगों को इसी बदबू के बीच से जाना पड़ रहा है। उसी प्रकार लौह मार्ग न्यायालय, पार्सल ऑफिस के पास हाल ही में गार्ड प्रशिक्षण केंद्र की तरफ बनाए गए लोहे के गेट के समीप कचरा फेंका गया है। जहां एक ओर स्वच्छता अभियान की बातें की जाती हैं वहीं दूसरी ओर कल्याण की गंदगी कुछ और ही हाल बयां कर रही है। यहां की गंदगी को देखकर ऐसा नही लगता है कि रेलवे प्रशासन ने कल्याण रेलवे स्टेशन सीमा से गंदगी को हद पार करने की कोई भी पहल की हो? कोर्ट के सामने भंगार कार, रिक्शा, लकड़ी की गाड़ी जैसे तमाम तरह के अनुपयोगी सामान फेंके गए हैं। पार्किंग की एरिया को भी साफ करने की जरूरत है।
कल्याण रेलवे स्टेशन के मैनेजर अनूप कुमार जैन ने बताया कि स्टेशन परिसर में देर रात को कल्याण सिटी की सीमा में आने वाले स्कायवाक पर सब्जी बेचने वाले देर रात तक सब्जी बेचते हैं। अनुपयोगी या फिर न बिकी सब्जी को रेलवे परिसर में फेंक कर चले जाते होगें। सब्जी व अन्य तरह के कचरे को शीघ्र साफ करवाया जाएगा और रेलवे परिसर को गंदा करने वाले लोगापर रेलवे की विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही की जाएगी।

कल्याण रेलवे स्टेशन एक महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन है। कल्याण में आर. पी.एफ. की बड़ी फौज है। लौह मार्ग पुलिस स्टेशन है। कमर्शियल, स्टेशन मैनेजर है। चप्पे-चप्पे पर कैमरे की नजर हैं। इसके बावजूद कल्याण रेलवे स्टेशन कचरा स्टेशन कैसे बन गया? कल्याण रेलवे स्टेशन साफ-सुधरा रहे इसके लिए कल्याण के साथ ही मध्य रेलवे के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर बैठे मुख्यालय के आला अधिकारियों को निरीक्षण, परीक्षण कर कल्याण रेलवे स्टेशन के पश्चिमी परिसर को स्वच्छ, सुंदर बनाने की जरूरत है। इतना ही नहीं स्टेशन परिसर को नरक बनाने वाले लोगों को सबक सिखाने की जरूरत हैं।

अन्य समाचार