मुख्यपृष्ठनए समाचारसिटीजन रिपोर्टर : मुंब्रा-बदलापुर पुणे राज्य मार्ग का कब होगा सुधार? ... डी...

सिटीजन रिपोर्टर : मुंब्रा-बदलापुर पुणे राज्य मार्ग का कब होगा सुधार? … डी मार्ट के पास है प्राण घातक मार्ग

अंबरनाथ
अंबरनाथ की सीमा से लेकर बदलापुर पुणे राज्य मार्ग की हालत खराब है। एमएमआरडीए द्वारा बनाए गए मुंब्रा से पुणे राज्य मार्ग पर जगह-जगह वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ‘दोपहर का सामना’ के सिटीजन रिपोर्टर गजानन कदम ने उपर्युक्त मार्ग को लेकर यातायात पुलिस, एमएमआरडीए, अंबरनाथ-बदलापुर नपा प्रशासन की कार्यप्रणाली के प्रति आक्रोश व्यक्त किया है।
गजानन कदम का कहना है कि सरकार को चाहिए कि वह जैसे सुरक्षा के अंतर्गत यातायात पुलिस के मार्फत तरह-तरह के सड़क सुरक्षा नियम को बताते हुए सिग्नल का पालन करने का संदेश देती है और नियम का उल्लंघन करने पर वाहन चालक को दंडित करती है। वाहन का रजिस्ट्रेशन पेपर, इंश्योरेंस और लाइसेंस की जांच करते समय कुछ भी कमी होने पर यातायात पुलिस द्वारा चालक से मोटी रकम वसूल की जाती है। पासिंग पर मोटी रकम ली जाती है। अब सवाल उठता है कि जब चालक सरकार के नियम के मुताबिक सरकारी निश्चित फीस भरता है तो क्या सरकार की ड्यूटी चालक के लिए नहीं बनती कि वह चालक को सुविधा प्रदान करे। राज्य मार्ग मुंब्रा से बदलापुर और कर्जत मार्ग से रोजाना हजारों वाहन आते-जाते हैं। राज्य मार्ग की ऐसी स्थिति है तो क्या कहा जाए? इसके अलावा अंबरनाथ परिसर की स्ट्रीट लाइट अधिकतर बंद रहती हैं। सड़कों पर जगह-जगह ब्रेकर बनाए गए हैं। उस पर सफेद पट्टा बोर्ड भी नहीं है। ब्रेकर, डिवाइडर पर रेडियम पेंटिंग भी नहीं है, जिसके कारण विगत दिनों कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। इतना ही नहीं, कई लोगों को इस दुर्घटना में अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा है। चिखलोली गांव के पास इस सड़क की चौड़ाई ४० फुट हो गई है, जबकि अन्य जगह सौ फुट है। डी मार्ट के आगे की संकरी सड़क हमेशा टूटी रहती है। अभी हाल में आयोजित आगरी महोत्सव में घाती सरकार के कई मंत्री व नेता जमा हुए थे। उस समय टूटी सड़क को मरम्मत के नाम पर थूक पट्टी किया गया था। आज उस जगह से धूल उड़ रही है। उड़ती धूल से वाहन चालक परेशान हैं। बदलापुर में कात्रप चौक और घोरपड़े चौक व्यस्त चौक हैं। पुणे, बदलापुर और मुंबई को जोड़ने वाले इस मार्ग पर रोजाना लाखों वाहनों का आवागमन होता है। इसके बावजूद राज्य सरकार, नपा प्रशासन व यातायात पुलिस को लोगों के जान-माल के प्रति जिस तरह से ड्यूटी निभानी चाहिए वैसी नहीं निभा रहे हैं। इस मार्ग पर विद्यालय, बदलापुर ग्रामीण अस्पताल भी है। यहां प्रतिदिन बड़ी संख्या में विद्यालय की बस, एंबुलेंस भी आती-जाती हैं। इस राज्य मार्ग के प्रति जितना सक्रिय राज्य सरकार व उनके सिपाहियों को रहना चाहिए उतना नहीं हैं। राज्य सरकार को चाहिए ऐसे मार्ग का सर्वेक्षण करवाकर उसमें सुधार करें। आज की सरकार केवल आगामी चुनाव को लेकर घोषणाबाजी करने में लगी हुई है। राज्य सरकार को इस मार्ग पर जगह-जगह बोर्ड लगवाने की जरूरत है, जिस पर लिखा हो कि इस मार्ग के रखरखाव की जिम्मेदारी किसकी है। इसके साथ ही उसका संपर्क नंबर भी लिखा होना चाहिए। आज की स्थिति ऐसी है कि राज्य निर्माण विभाग, एमएमआरडीए की तरफ उंगली करता है और एमएमआरडीए, राज्य निर्माण विभाग की तरफ उंगली करता है।

अन्य समाचार