मुख्यपृष्ठखेलक्लीन बोल्ड: आ गए इलेक्ट्रिक स्टंप, सब कुछ ठीक है भाई, पद्मश्री...

क्लीन बोल्ड: आ गए इलेक्ट्रिक स्टंप, सब कुछ ठीक है भाई, पद्मश्री लौटाना असंभव क्यों है?

अमिताभ श्रीवास्तव

आ गए इलेक्ट्रिक स्टंप

आकर्षण बढ़ाने के लिए अब इंद्रधनुषीय स्टंप देखने को मिलेंगे। यह क्रिकेट जगत में एक और बड़ा बदलाव है। इलेक्ट्रिक बेल्स के बाद अब पूरा स्टंप भी इलेक्ट्रिक आ गया है। फिलहाल, महिला बिश बैश लीग में इसके ट्रायल के बाद बिश बैश लीग पुरुष में भी इसका इस्तेमाल शुरू हो गया है। यह `इलेक्ट्रा’ स्टंप प्रत्येक डिसीजन पर विभिन्न चमकते रंग दिखाएंगे। मैच के दौरान जब नो-बॉल, विकेट, बाउंड्री होगी, तब यह स्टंप चमकेंगे। ये खेल के एक महत्वपूर्ण हिस्से से भी जुड़े हुए हैं। यह स्टंप भारी चुंबक-संचालित `जिंगर बेल्स’ की आवश्यकता को खत्म करते हैं, जिससे ऐसे मामलों को रोका जा सकता है, जहां प्रभाव पड़ने पर बेल्स अपनी जगह से हटने में विफल हो जाते हैं। जब कोई आउट होगा तो स्टंप चमकीले लाल रंग में चमकेंगे। ब्राउंड्री पार चौका लगेगा तो सभी रंग तेजी से बदलेंगे। छक्के में सभी रंग ऊपर की ओर जाएंगे इससे स्टंप आकर्षक लगेगी और यदि नो बॉल होगी तो लाल और सफेद रोशनी निकलेगी। ओवरों के बीच में यह बैंगनी और नीले स्क्रॉल के बीच ओवरों के बीच अंतराल का संकेत देगा। है न मजेदार।

सब कुछ ठीक है भाई

यजुवेंद्र चहल और उनकी पत्नी धनश्री को लेकर सोशल मीडिया पर बहुत कुछ कहा, सुना जाता है। इस कपल को पता नहीं लोग क्यों इतना बदनाम करने पर तुले हैं। वैसे सब जानते हैं कि धनश्री एक डांसर, यू ट्यूबर, कोरियोग्राफर, मॉडल और डांस कंपनी की मालिक हैं। इसकी वजह से उनका लगभग हर किसी सेलेब्रिटी के साथ मिलना-जुलना होता है और इसमें श्रेयस अय्यर भी एक ऐसे ही सेलिब्रेटी रहे हैं, जिनके साथ उनका नाम जोड़कर अक्सर लोग ट्रोल करते हैं, मगर हमेशा इस युगल ने अपने प्यार और साथ को दर्शाते हुए समय-समय पर जवाब दिया है। उनके तीन साल शादी के होने पर जहां चहल ने सोशल मीडिया पर बढ़िया संदेश के साथ पोस्ट की, वहीं धनश्री ने भी अपनी शादी की सालगिरह को डांस के वीडियो के साथ मनाया। उन्होंने पोस्ट पर लिखा भी कि तीन साल मेरे साथ बने रहने, सहयोग के लिए बधाई। जब भी मौका मिलता है हम मिस्टर चहल के साथ डांस करते हैं और आज तो बनता है। हैप्पी एनिवर्सरी। इस पर यजुवेंद्र ने भी प्यार लुटाया है। दोनों साथ हैं और अपने दांपत्य जीवन को जी रहे हैं।

पद्मश्री लौटाना असंभव क्यों है?

पहलवान बजरंग पूनिया द्वारा पद्मश्री लौटाना सुर्खियों में है। इस अवॉर्ड को लौटाना लगभग असंभव है। यह क्यों नहीं लौटाया जा सकता? आइए समझते हैं। ये पहली बार नहीं है, जब किसी ने अपना पुरस्‍कार इस तरह से लौटाया है। पिछले कुछ सालों में कई लोग पद्म पुरस्‍कार लौटा चुके हैं। इसके बावजूद बजरंग पूनिया पद्म पुरस्कार विजेताओं की सूची में बने रहेंगे, क्योंकि इस सम्मान को लौटाने का कोई प्रावधान नहीं है। दरअसल, पुरस्कार जीतने वाला किसी कारण से सम्‍मान वापस करने की घोषणा कर सकता है, लेकिन पद्म पुरस्कार के लिए इस तरह का कोई नियम ही नहीं है। बगैर कारण सिर्फ राष्ट्रपति पुरस्कारों को रद्द करने की अनुमति दे सकते हैं। सामान्यत: पद्म पुरस्कारों से सम्मानित करने के लिए प्रस्तावित शख्‍स की इच्छा घोषणा से पहले सुनिश्चित की जाती है। किसी शख्‍स को पद्मविभूषण, पद्मभूषण या पद्मश्री से सम्‍मानित करने के बाद नाम भारत के राजपत्र में प्रकाशित होता है, जिसका एक रजिस्टर भी रखा जाता है। भले ही पुरस्कार विजेता बाद में खुद पद्म पुरस्कार वापस करे, लेकिन नाम राजपत्र या पुरस्कार विजेताओं के रजिस्टर में बना रहता है।

अन्य समाचार