मुख्यपृष्ठस्तंभक्लीन बोल्ड: इस ज्योति से सीखो

क्लीन बोल्ड: इस ज्योति से सीखो

अमिताभ श्रीवास्तव

हिंदुस्थान एथलीट विश्व में यदि निखर कर सामने आया है तो इस बार एशियाड से, जिसमें हमारे कई एथलीटों ने कमाल का प्रदर्शन दिखाया और देश का गौरव बढ़ाया था। इसमें एक हरडल रेस की धाविका भी थी, ज्योति याराजी। ज्योति देखते ही देखते देश के युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत बन गईं। ज्योति याराजी को खुद के रिकॉर्ड तोड़ना पसंद है। चाहे फिर वो राष्ट्रीय ओपन एथलेटिक्स चैंपियनशिप में ही क्यों न हो। उन्होंने महिलाओं की १०० मीटर बाधा दौड़ १३ सेवंâड से कम समय में पूरी करके नया कीर्तिमान स्थापित किया था। ज्योति पहली हिंदुुस्थानी महिला एथलीट बन गई थीं, जिन्होंने १०० मीटर बाधा दौड़ १३ सेवंâड से कम समय में पूरी की थी। वो सोशल मीडिया पर सक्रिय रहती हैं, मगर इस सक्रियता के साथ उन्होंने जो संदेश दिया है युवाओं को, वो काबिले तारीफ है। यह संदेश कुछ ऐसा है, जिसे समझना होगा। उन्होंने अपनी दो फोटो डाली हैं। पहला सेल्फी लेते हुए तो दूसरा दौड़ का अभ्यास करते हुए है। इसमें उन्होंने जो लिखा उस पर युवाओं को गौर करना होगा । पहली तस्वीर में लिखा है १ प्रतिशत, दूसरी पर ९९ परसेंट लिखा है यानी मोबाइल पर सेल्फी, रील्स के लिए केवल १ प्रतिशत टाइम मगर अभ्यास और मेहनत के लिए ९९ प्रतिशत समय देना जरूरी है।

अन्य समाचार