मुख्यपृष्ठखेलक्लीन बोल्ड : मैदान पर स्वाद चखा दो!

क्लीन बोल्ड : मैदान पर स्वाद चखा दो!

अमिताभ श्रीवास्तव

लगता है भूखे ही पाकिस्तान से आए थे। वैसे भी पाकिस्तान की हालत दयनीय है मगर क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए ऐसी बात नहीं मगर हिंदुस्थानी लजीज खानों पर मानो वो टूट पड़े हैं। हैदराबाद में है पाकिस्तानी टीम जहां मेहमाननवाजी का जम के फायदा उठा रही है वो। अब जब भूखे नंगे जैसे टूट ही पड़े हैं तो अपनी इस आदत को छिपाने कुछ तो तारीफ करनी ही होगी। यहां यह कह दें कि हिंदुस्थान हर टीम के साथ एक-सा व्यवहार कर रहा है। उसके संस्कार हैं, वो स्वागत बेमिसाल करता है। पाकिस्तानी टीम भी इस मेहमाननवाजी का लुत्फ उठा रही है। गेंदबाज शादाब ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडियाकर्मियों से कहा, ‘खाना बहुत ही लजीज है और (हंसते हुए कहा) हमारा सहयोगी स्टाफ (सभी दक्षिण अफ्रीकी) इस बात से चिंतित हैं कि हम अपना मोटापा बढ़ा लेंगे।’ वहीं खाना बनानेवाले और परोसनेवाले हिंदुस्थानी शेफों का कहना है कि अब इनको मैदान पर हार का स्वाद चखा दो टीम इंडिया।

सनी को पसंद है इंग्लैंड
अब यह कोई इंग्लैंड रहने या घूमने की जगह को लेकर पसंद-नापसंद नहीं है बल्कि यह तो टीम पसंद की बात है, जो इस बार विश्वकप जीतेगी। कौन जीतेगा इस बार विश्वकप? बात इसी प्रश्न की थी, जिसका जवाब हमारे लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर ने दिया है। सुनील गावस्कर ने वर्ल्ड कप २०२३ के खिताब का सबसे ब़ड़े दावेदार टीम इंडिया, पाकिस्‍तान या फिर ऑस्ट्रेलिया को नहीं, बल्कि गत चैंपियन इंग्लैंड को बताया है। उनका मानना है कि इंग्लैंड की टीम इस बार अपने खिताब को बचाने में कामयाब हो सकती है। यहां यह बता दें क्रिकेट के इतिहास (पुरुष) में आज तक वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया ही ऐसी दो टीम हैं, जो अपने टाइटल को डिफेंड करने में सफल रही हैं। गावस्कर ने बताया कि जोस बटलर के नेतृत्‍व वाली इंग्‍लैंड की टीम के पास बेहद शानदार गेंदबाजी लाइन अप है, जिसमें तीन वर्ल्ड क्‍लास ऑलराउंडर भी हैं, जो किसी भी समय अपने दम पर खेल का रुख बदल सकते हैं।

जिताएंगे तो शर्माजी ही
आप शर्मा जी को और उनकी सेना को कम मत आंकों। हमारे शर्मा, यानी रोहित शर्मा में वर्ल्ड कप जीतने का जुनून भी और जज्बा भी। इस बार का वर्ल्ड अगर हिंदुस्थान जीतता है तो टीम इंडिया का पिछले १० साल का आईसीसी ट्रॉफी का सूखा भी खत्म हो जाएगा। अब उसके लिए एक खिलाड़ी का रनों की बौछार करना बेहद जरूरी है और वह खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि हमारे शर्मा जी हैं। वैसे बता दें कि जब भी आईसीसी का कोई इवेंट होता है तब रोहित शर्मा का बल्ला जमकर बोलता है, ये उनका आखिरी वर्ल्ड कप हो सकता है और वे ही कप्तान भी हैं। ऐसे में उनकी पूरी कोशिश होगी कि वर्ल्ड कप जीतने का सपना वो पूरा करें। रोहित शर्मा ने अपने करियर में २ वर्ल्ड कप खेले हैं, २०१५-२०१९। दोनों ही टूर्नामेंट में उनके बल्ले ने आग उगली है, साल २०११ में भी रोहित शर्मा टीम में होते लेकिन वर्ल्ड कप से ठीक पहले वो बुरी फॉर्म से जूझ रहे थे, ऐसे में उन्हें टीम में जगह नहीं मिली। अब रोहित शर्मा के पास मौका है कि जब अपने घर में ही वर्ल्ड कप हो रहा है, ऐसे में घरेलू माहौल का फायदा उठाकर टीम इंडिया वर्ल्ड कप की ट्रॉफी भी उठा ले।
(लेखक वरिष्ठ खेल पत्रकार व टिप्पणीकार हैं।)

अन्य समाचार