मुख्यपृष्ठखेलक्लीन बोल्ड : औकात इसको कहते हैं

क्लीन बोल्ड : औकात इसको कहते हैं

अमिताभ श्रीवास्तव

पाकिस्तानी टीम की औकात क्या है, इसका अंदाजा आयरलैंड दौरे पर गई हुई पाकिस्तानी टीम को देखकर लगाया जा सकता है। अब अपनी हकीकत जब सबके सामने उजागर हो रही है तो इस फजीहत को छिपाने की कोशिश पूर्व क्रिकेटर जैसे लोग करते दिख रहे हैं। दरअसल, आयरलैंड में सीरीज का पहला मैच भी टीम हार गर्इं। हालांकि, दूसरे मैच को जीतकर एक-एक बराबर हो गए हैं मगर उसके खिलाड़ियों को वहां पैâन कोई भाव नहीं दे रहे। एक अफगानी पैâन से शाहीन आफरीदी तो भिड़ भी गया। उधर, पूर्व क्रिकेटर रमीज राजा ने खराब व्यवस्था का आरोप लगाते हुए निराशा भी व्यक्त की है। राजा ने कहा कि एक चीज मुझे बहुत बुरी लगी, वो है इसकी कवरेज, ऐसा लग रहा है कि कोई क्लब लेवल का मैच टेलीकास्ट हो रहा है। यह कोई अप्रâीकन कंट्री नहीं है। २ कैमरा है, न डीआरएस है, न रिप्ले है, न अच्छी शॉट का मजा आ रहा है देखने को न बॉलिंग देखने का मजा आ रहा है। बहुत ज्यादती है पाकिस्तान क्रिकेट के प्रोडक्ट के साथ। पाकिस्तान क्रिकेट को बहुत लोग चाहते हैं, पसंद करते हैं, दुनिया में धाक है। दुनिया के सामने इस तरह से प्रजेंट करना यह ज्यादती है पाकिस्तान क्रिकेट के साथ। इस तरह की कवरेज से हमारी क्रिकेट ऊपर नहीं, फ्लैट दिखती है।
शाबाश बत्रा!
यह टेबल टेनिस में हिंदुस्थानी खिलाड़ी मनिका बत्रा के करियर की सबसे बड़ी छलांग है। यह एक इतिहास भी है। जी हां, टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा ने इतिहास रच दिया है। बत्रा ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग हासिल कर ली है। उन्होंने आईटीटीएफ रैंकिंग में शीर्ष २५ में प्रवेश कर लिया है। मनिका विश्व में ३९वें स्थान से १५ स्थान की छलांग लगाकर २४वें स्थान पर पहुंची। उन्होंने श्रीजा अकुला से अपना देश का नंबर एक स्थान भी हासिल कर लिया। मनिका के रैंकिंग में सुधार सऊदी स्मैश २०२४ में ठोस प्रदर्शन के बाद आया है। मनिका ने टूर्नामेंट में कई उच्च रैंकिंग वाले खिलाड़ियों को हराया। उन्होंने ३२वें राउंड में वर्ल्ड नंबर २ वांग मन्यु को चौंका दिया। १६वें राउंड में मनिका ने वर्ल्ड नंबर १४ जर्मनी की नीना मित्तेलहम को हराया और उनके खिलाफ अपनी पहली जीत भी हासिल की।
परवेज का परचम
पिछले एकाध वर्षों में हिंदुस्थानी धावकों ने विश्व में अपनी धाक जमाई है। दौड़ हो या कूद हो सारे इवेंट में हमारे एथलीट अब परचम लहराते हैं। हाल ही में अमेरिका के लुइसियाना में खेली गई एसईसी चैंपियनशिप में हिंदुस्थानी खिलाड़ी परवेज खान ने शानदार प्रदर्शन किया है। परवेज ने १,५०० मीटर रेस में गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। उन्होंने तीन मिनट ४२.७३ सेकंड में ये रेस पूरी की। परवेज ने शुरुआत अच्छी नहीं की थी, लेकिन बाद में उन्होंने रफ्तार पकड़ी और अपने बाकी प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ते हुए पहला स्थान हासिल करते हुए गोल्ड मेडल जीता। उन्होंने अंतिम १०० मीटर में असल खेल किया और सभी को हैरान कर दिया। इससे पहले वह हीट में टॉप आए थे और फाइनल रेस के लिए क्वालिफाई करने में सफल रहे थे। परवेज ने न सिर्फ १,५०० मीटर में दम दिखाया बल्कि हरियाणा के इस किसान के बेटे ने ८०० मीटर में भी मेडल जीता। यहां हालांकि, वह पहला स्थान हासिल नहीं कर सके। इस रेस में वह तीसरे स्थान पर रहे और ब्रॉन्ज मेडल जीतने में सफल रहे।
(लेखक वरिष्ठ खेल पत्रकार व टिप्पणीकार हैं।)

अन्य समाचार