मुख्यपृष्ठखेलक्लीन बोल्ड : कोहली जैसा `मोये-मोये'

क्लीन बोल्ड : कोहली जैसा `मोये-मोये’

अमिताभ श्रीवास्तव

क्रिकेट का जो शख्स असली मजा लेता है, वो विराट कोहली ही है। इस बंदे ने एंजाय क्या होता है सीख रखा है। सच तो यह है कि कोहली जैसा कोई नहीं है। मैदान पर जो मसखरी करता हो, हमेशा माहौल को संजीदा रखता हो वो कोहली ही हैं। अब देखिए न, हिंदुस्थान और अफगानिस्तान का मुकाबला जब टाई हुआ तो सुपर ओवर शुरू होने से पहले डीजे ने मैदान में `मोये-मोये’ गाना बजाना शुरू कर दिया। जैसे ही यह गाना बजा, कोहली इस पर डांस करने लगे। उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और `मोये -मोये’ ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा। जब मैच टाई हुआ तो सुपर ओवर शुरू होने से पहले डीजे ने मैदान में `मोये-मोये’ गाना बजाना शुरू कर दिया। जैसे ही यह गाना बजा कोहली इस पर डांस करने लगे। टीम हर्डल में खड़े कोहली सर पर हाथ रखकर `मोये-मोये’ ट्रेंड का वायरल स्टेप करने लगे। वो अक्सर मैदान पर खुशनुमा माहौल बनाए रखते हैं।
आ रहा हूं
सूर्यकुमार यादव टीम से बाहर हैं। चोटिल होकर उपचार करा रहे हैं, मगर जल्द ही वापसी की उम्मीद लिए उन्होंने कह दिया है कि मैं आ रहा हूं। धाकड़ बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने कहा कि उन्होंने ‘स्पोर्ट्स हर्निया’ की सर्जरी करा ली है। वो पिछले महीने दक्षिण अप्रâीका के दौरे के दौरान चोटिल हो गए थे। दुनिया के शीर्ष टी-२० बल्लेबाज ने जर्मनी में सर्जरी कराई और उन्हें इससे पूरी तरह उबरने में कम से कम एक महीना लगेगा। उन्होंने कहा, `सर्जरी हो गई है। मैं सभी को उनकी शुभकामनाओं के प्रति धन्यवाद करना चाहूंगा, जिन्हें मेरे स्वास्थ्य के प्रति चिंता थी। मैं जल्द ही वापसी करूंगा।’ सूर्यकुमार के इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान वापसी की उम्मीद है, जिसके बाद जून में टी-२० विश्वकप खेला जाएगा। वो हिंदुस्थान के आईसीसी खिताब के सूखे को समाप्त करने की योजना के अहम हिस्सा हैं।
शान से जाएंगे जादरान
अफगानियों ने टीम इंडिया के खिलाफ जैसा क्रिकेट खेला है, वो उसके भविष्य के लिए सुनहरा साबित होगा। क्रिकेट विश्व में अफगानिस्तान आज जिस तेजी से अपने ग्राफ को ऊपर किए जा रहा है, वो आने वाले समय में सभी तगड़ी टीमों के लिए परेशानी की सबब होगा। टीम इंडिया ने भले ही उसे क्लीन स्वीप किया है, मगर अंतिम मैच ऐसा हुआ जो इतिहास में लिखा जाएगा। दो सुपर ओवर तक मैच खिंच जाना अफगानिस्तान की ताकत बयां करता है। यह जीत टीम इंडिया की इमेज के रूप में उतनी खुशियां नहीं दे सकती, जितनी अफगानिस्तान को मिली हैं, तभी तो उसके कप्तान जादरान हिंदुस्थान से लौटेंगे तो शान से जाएंगे। मैच के बाद जादरान ने बताया भी कि वे हार के बाद भी क्यों खुश हैं। उन्होंने कहा, `हम अपनी ओवर ऑल परफॉर्मेंस की वजह से खुश हैं। हमने अच्छी क्रिकेट खेली, लेकिन सुपर में हार जाना दुर्भाग्यपूर्ण रहा। हमें इस सीरीज से बहुत कुछ सीखने को मिला और हमारे लिए बहुत कुछ सकारात्मक रहा। हमें यहां का अनुभव टी-२० विश्वकप में काम आएगा। हमारे खिलाड़ियों ने पिछले तीनों मैंचों में बेस्ट परफॉर्म किया है।’

(लेखक वरिष्ठ खेल पत्रकार व टिप्पणीकार हैं।)

अन्य समाचार