मुख्यपृष्ठखेलक्लीन बोल्ड : मैक्सवेल दारू पीकर...

क्लीन बोल्ड : मैक्सवेल दारू पीकर…

अमिताभ श्रीवास्तव

एक गाना आया था कि माइकल दारू पी के दंगा करता है… अब इसे मैक्सवेल पर लागू किया जा सकता है। हां, वो दंगा नहीं, बल्कि अस्पताल में भरती होता है। ऐसा ही कुछ हुआ पिछले दिनों जब मैक्सवेल देर रात कुछ ज्यादा ही पार्टी करने के बाद होश खो बैठे, इसके बाद उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया। वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज के लिए भी मैक्सवेल का नाम स्क्वॉड में शामिल नहीं है। हालांकि, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बताया कि यह पैâसला इस हादसे के बाद नहीं लिया गया। एडिलेड से पहले ग्लेन मैक्सवेल एक पब में पहुंचे थे। इसी पब में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली का बैंड सिक्स एंड आउट भी परफॉर्म कर रहा था। इस दौरान पार्टी में मैक्सवेल ने कुछ ज्यादा ही शराब पी ली और इसके बाद वह अपना होश गवां बैठे। इस वजह से उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया। कुछ रिपोर्ट का कहना है कि वह पूरी रात अस्पताल में नहीं रुके। कुछ देर बाद वह वापस घर लौट गए थे। अब सच में क्या हुआ, इसको लेकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया मामले की जांच में जुट गया है।
डुप्लीकेट ही सही
यह भी एक मजा है। पिछले दिनों जब अयोध्या में राममंदिर में रामलला का प्राण प्रतिष्ठा समारोह आयोजित किया गया था, जिसमें विराट कोहली के भी आने की खबर थी। लेकिन निजी कारणों के चलते किंग कोहली इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए, लेकिन प्राण प्रतिष्ठा समारोह के कुछ ही देर के बाद विराट कोहली के जैसे दिखनेवाले शख्स को अयोध्या में देखा गया, जिसे देखकर पैंâस खुद पर काबू नहीं रख पाए और उनके साथ सेल्फी लेने के लिए उनको घेर लिया। सोशल मीडिया पर यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर सामने आए वीडियो में पैंâस कोहली के डुप्लीकेट को देखकर उनके साथ सेल्फी लेने की कोशिश करने लगे। देखते-देखते शख्स भीड़ से घिर गया। वीडियो में देखा जा सकता है कि पुलिस ने फिर कोहली के जैसे दिखनेवाले शख्स को भीड़ से निकाला। इस वीडियो को देखकर पैंâस लगातार रिएक्ट रहे हैं। दूसरी ओर टीम इंडिया को भी एक बड़ा झटका लगा है। भारत के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली पहले दो टेस्ट मैच से खुद को अलग कर लिया है। दरअसल, निजी कारणों के कारण कोहली सीरीज में खेले जानेवाले दो टेस्ट मैचों का हिस्सा नहीं रहेंगे।
गिल की तो निकल पड़ी
गिल की किस्मत तो निकल पड़ी। अब देखिए न, न तो रोहित शर्मा उनके बगल में हैं न ही विराट कोहली। गिल दोनों से आगे होते हुए इस बार इस पुरस्कार के हकदार बने हैं। जी हां, पूर्व भारतीय आलराउंडर और मुख्य कोच रवि शास्त्री को भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के ‘लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार’ से सम्मानित किया जाएगा। वहीं सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल को १२ महीने में शानदार प्रदर्शन करने के लिए साल के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर का पुरस्कार दिया जाएगा। इन १२ महीनों के दौरान वह एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में सबसे तेज दो हजार रन बनानेवाले खिलाड़ी बने और इस प्रारूप में पांच शतक लगाए। रवि शास्त्री को लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार के लिए चुना गया, जबकि गिल को साल के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर का पुरस्कार दिया जाएगा।’ बीसीसीआई पुरस्कार २०१९ के बाद पहली बार दिए जा रहे हैं और गुरुवार से यहां शुरू हो रहे पहले टेस्ट से पूर्व भारत और इंग्लैंड दोनों टीमों के खिलाड़ियों के समारोह में मौजूद रहने की उम्मीद है।
(लेखक वरिष्ठ खेल पत्रकार व टिप्पणीकार हैं।)

अन्य समाचार